सूचना ” डायनैमिक और  डाइनामाईट “

                                                    सूचना

” डायनैमिक ऎण्ड डाइनामाईट ” शीर्षक से मैं अपनी आत्मकथा की शुरुआत अपने टाईमलाईन  पर और साथ ही इस नोट पर भी स्वाधीनता दिवस 15 अगस्त 2015 से करूंगा, घटनाक्रम पंजाब नैशनल बैंक , प्रधान कार्यालय में राजभाषा विभाग के प्रभारी मुख्य प्रबंधक के पद से सम्मानजनक सेवा पूरी कर रिटायर्मेंट के दिन से अतीत की ओर लौटते हुए होगा ।
मेरा पूरा सेवाकाल राजभाषा हिंदी के लिए रहा है और मेरा व्यक्तित्व एवं कृतित्व जो भी है , वह उसी की देन है, फिर भी अपनी आत्मकथा का शीर्षक मैं अंग्रेजी में रख रहा हूं। इस विषय का खुलासा भी सही समय पर करूंगा,लेकिन फिलहाल उससे ज्यादा जरूरी खुलासों के लिए तैयार रहिए।
रिटायर्मेंट की तिथि यानी 31.10.2014 और भारत के माननीय राष्ट्रपति द्वारा मुझे पुरस्कार प्रदान किए जाने की तिथि यानी 15.11.2014 के बीच मैं ने अपने फेसबुक नोट पर दो पोस्ट किए । 02 नवम्बर को ” शुक्रिया उन सबका” शीर्षक से अपनी आत्मकथा का शुभारंभ किया और 15 नवम्बर को “शत – शत बधाइयां ” शीर्षकसे उसकी दूसरी कडी दी । उसके बाद ” अतीत के झरोखे से भविष्य की झांकी” , ” मेरी बेटी में मेरी मां क्यों नजर आती है मुझे” , ममता और संवेदना ही ईश्वर है ” , ” जब पंख लगे परिंदे को ” , ” असहमति का अधिकार” भाग – एक एवं ” असहमति का अधिकार ” भाग – दो ।  कुल मिला कर वे आठ एपीसोड मेरे व्यक्तिगत एवं पारिवारिक जीवन के कुछ वैसे अंश थे जिन्हें दिया जाना  तत्कालीन परिस्थितियों के अनुसार अपेक्षित था । अभी उस कडी में कुछ और भी अंश अपेक्षित हैं, इसीलिए मेरे बारे में और मुझसे जुडी घटनाओं के बारे में जानने के इच्छुक शुभ या अशुभ चिंतकों को थोडा इंतजार करना होगा।
चूंकि डायनैमो ऊर्जा और गतिशीलता का प्रतीक है तथा डाइनामाईट ऊर्जा के विध्वंसक प्रयोग का, इसीलिए आत्मकथा के इन अंशों में विस्फोटक सूचनाओं के होने से इंकार नहीं किया जा सकता और यह तो सभी जानते हैं कि विध्वंस ही नवनिर्माण की पहली प्रक्रिया होती है, अत: उसे हमेशा नकारात्मक दृष्टिकोण से ही नहीं देखा जाना चाहिए, क्योंकि जो घटनाएं घट गईं, वे तो हकीकत और इतिहास बन चुकी हैं। । अभी तो यही गुजारिश है कि पिछली आठ कडियों को पढने का समय निकालिए ।
शुक्रिया,
अमन श्रीलाल प्रसाद
 25 जून, 2015
मो. 9310249821

14,769 thoughts on “सूचना ” डायनैमिक और  डाइनामाईट “

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

78 visitors online now
53 guests, 25 bots, 0 members