हद – ए – परवाज़ से ऊंचा

                “ कहां रूकता हूं मैं अर्श वो फर्श की आवाज से
                मुझको जाना है बहुत ऊंचा हद – ए – परवाज़ से ”

28 जुलाई के पोस्ट से आगे ….

जुलाई 2001 में मेरा स्थानांतरण पीएनबी क्षेत्रीय कार्यालय मुज़फ्फरपुर से अंचल कार्यालय पटना में हो गया , वहां बुद्ध कॉलोनी में सन्नी टॉवर अपार्टमेंट में अनिल कुमार का फ्लैट बैंक लीज पर मिल गया, अनिल जी पीएनबी में ही मुज़फ्फरपुर क्षेत्र में स्केल 1 अधिकारी थे और मेरे अच्छे मित्र भी थे,  तब तक मेरी बेटी शिल्पा श्री की सीबीएसई  बोर्ड की दसवीं की परीक्षाओं की प्रक्रिया शुरू हो गई थी, इसीलिए उसका स्कूल टीसी नहीं लिया गया , शिप्रा का टीसी ले कर उसका नाम बाल्डविन एकेडेमी ईस्ट बोरिंग कैनाल रोड पटना में 9वीं क्लास में लिखा दिया गया, समय पर शिल्पा ने बोर्ड की परीक्षाएं मुज़फ्फरपुर से ही दी और अच्छे मार्क्स एवं ग्रेड से पास हुईं , उसका नाम भी बाल्डविन एकेडेमी में ही प्लस 2 में लिखा दिया गया। पुष्पक  ने सीबीएसई बोर्ड से प्लस 2 कर लिया , आईआईटी में उनका चयन नहीं हो सका, बीआईटी की प्रवेश परीक्षा में वे सफल हो गए, तदनुसार बैचलर ऑफ इंफॉर्मेशन टेक्नोलॉजी में उनका एडमिशन करा दिया गया।

कुछ दिनों बाद मेरे फ्लैट मालिक अनिल कुमार का ट्रांस्फर मुज़फ्फरपुर से पटना हो गया, अब उन्हें उनका फ्लैट खुद के लिए चाहिए था, इसीलिए उसे खाली कर आनन्दपुरी, वेस्ट बोरिंग कैनाल रोड पटना में बैंक लीज पर तीन कमरों का एक फ्लैट मैं ने ले लिया। इसी बीच 2003 में मेरा प्रमोशन स्केल 3 में हो गया और मेरा स्थानांतरण न हो कर मेरी पोस्टिंग अंचल कार्यालय पटना में ही कन्फर्म हो गई । यह एक संयोग ही था कि स्केल 3 का रिजल्ट 06 मार्च 2003 को आया था और उस दिन मेरी शादी की 24वीं वर्षगांठ थी । इधर पुष्पक की बीआईटी की क्लासेज जारी रहीं, उसी दरम्यान उन्होंने मेरी सिगरेट स्मोकिंग छुडाने के उद्देश्य से 15 मिनट की वह फीचर फिल्म बनाई थी जिसकी चर्चा मैंने “असहमति का अधिकार” वाली कडी में की है। पुष्पक के बीआईटी के फाईनल रिजल्ट 2004 के अंतिम दिनों में आ गए , अच्छे मार्क्स और अच्छे ग्रेड से उन्होंने बैचलर ऑफ इंफॉर्मेशन टेक्नोलॉजी कर लिया , इंफोसिस में टेक्निकल सपोर्ट  में उनका चयन हो गया , इंफोसिस ज्वाईन कराने के लिए मैं उनके साथ बंगलोर गया ।

01 जनवरी 2005 को प्रात: 10 बजे हमारी ट्रेन संघमित्रा एक्सप्रेस पटना से चेन्नई स्टेशन पर पहुंची थी, वहां मैं ने “दि हिंदु” अंग्रेजी अखबार खरीदा था, उसके पेज वन पर समुद्र के गर्भ से निकलते हुए सूर्य की बहुत ही मनोहारी और ऊर्जस्वी तस्बीर छपी थी , स्मरण होगा कि दिसम्बर 2004 के अंतिम सप्ताह में भयंकर विनाशकारी सूनामी तूफान आया था जिससे आंध्र, उडीसा और तमिलनाडु में भारी तबाही हुई थी और अब स्थिति सामान्य होने लगी थी, संभवत: “दि हिंदु” के सम्पादक ने विनाश की हताशा, निराशा और ध्वंस के अंधियारे के बाद आशा, उत्साह और सृजन के उजास के प्रतीक के रूप में उस उगते हुए सूर्य को दिखाना चाहा होगा, रास्ते में सूनामी से क्षत विक्षत क्षेत्रों को बडे उदास और खिन्न मन से नीहारते हुए हम वहां तक पहुंचे थे, दि हिंदु में छपी वह तस्बीर और स्टेशन यार्ड में खडे विभिन्न राज्यों से भेजी गई राहत सामग्री से लदे रेलवे रैक्स देख कर हमारा मन मुदित – प्रफुल्लित हो गया और नव वर्ष व नव निर्माण का वह सूर्य हमेशा के लिए मानस – पटल पर अंकित हो गया। उन दिनों मैं बैंक की त्रैमासिक हिंदी पत्रिका “अर्पण” का सम्पादक था, शरद चंद्र सिन्हा और मुक्ति सहाय के माध्यम से उस पत्रिका का मुद्रण होता था , पटना वापस पहुंचने पर उन्हें बुला कर मैं ने दि हिंदु वाली उस तस्बीर को दिखाया और उसी तरह की तस्बीर “अर्पण” के अक्टूबर – दिसम्बर 2004 अंक यानी 2005 के नव वर्ष अंक के मुख पृष्ठ पर छापने का निर्देश दिया था और उसी पर केन्द्रित सम्पादकीय भी मैं ने लिखा था। उस अंक की चतुर्दिक सराहना हुई थी।

संघमित्रा एक्सप्रेस में बैठे हुए मैं ने प्रार्थना की कि बेटे की पहली नौकरी के दौरान आया वह सूर्य निरंतर उन्नति और उत्साह का सूर्य साबित हो। उसी दिन शाम को हम बंगलोर पहुंचे, 03 जनवरी को बेटे ने इंफोसिस ज्वाईन किया,  इंफोसिस परिसर को अन्दर से देखना एक अद्भुत अनुभव था । 09 जनवरी 2005  को एक्सएलआरआई जमशेदपुर में एमबीए में एडमिशन के लिए बेटे की काउंसेलिंग थी , इंफोसिस ने उन्हें छुट्टी नहीं दी, उन्होंने एक्सएलआरआई में एडमिशन से ज्यादा अहमियत इंफोसिस में नौकरी को दी, हालांकि वह एक चूक थी क्योंकि एक्सएलआरआई से एमबीए का अपना अलग महत्त्व है, फिर भी बेटे ने निरंतर मेहनत और उन्नति करते हुए उस चूक को सुधार लिया है।
शिप्रा ने बहुत अच्छे मार्क्स और ग्रेड में दसवीं सीबीएसई बोर्ड परीक्षाएं पास कर लीं , उसका नामांकन पटना साईंस कॉलेज में आई एस-सी में हो गया, पटना साईंस कॉलेज में एडमिशन होना विद्यार्थियों और उनके गार्जियन के लिए बडे गर्व की बात होती है, किंतु मेरी बेटी को उस कॉलेज का वातावरण पसन्द नहीं आया, इसीलिए , वहां से हटा कर उसका नामांकन खगौल डीएवी पब्लिक स्कूलमें प्लस 2 में करा दिया गया। शिप्रा ने वहीं से बहुत अच्छे मार्क्स और ग्रेड के साथ सीबीएसई बोर्ड से प्लस 2 पास कर लिया। वह आईआईटी और इंजीनियरिंग की कई अन्य प्रवेश परीक्षाओं में शामिल हुई थी, आईआईटी में तो उसका चयन नहीं हो सका किंतु अन्य अनेक इंजीनियरिंग कॉलेजों और युनिवर्सिटी में उसका चयन हो गया, चूंकि बेटा बंगलोर में एच पी ( साल भर के अन्दर ही पुष्पक इंफोसिस छोड कर हैवलेट पैकड में चले गए थे) में नौकरी कर रहा था, इसीलिए शिप्रा और परिवार के अन्य सभी सदस्यों ने भी बंगलोर को प्राथमिकता दी और शिप्रा का एडमिशन साम्भ्रम इंस्टीच्युट ऑफ टेक्नोलॉजी में बीटेक में हो गया। इसी बीच मेरा ट्रांस्फर अंचल कार्यालय पटना से अंचल कार्यालय रांची हो गया था। रांची के डोरंडा साउथ ऑफिस पाडा में भवानी अपार्टमेंट में बैंक लीज पर एक फ्लैट मिल गया, मैं सपरिवार वहां शिफ्टहो गया ।

शिल्पा ने पटना रहते ही सीबीएसई बोर्ड से प्लस 2 अच्छे मार्क्स और ग्रेड से पास कर लिया था और उसने रांची के सबसे प्रतिष्ठित सेंटजेवियर कॉलेज सहित अन्य कॉलेजों में हिंदी, अंग्रेजी तथा मासकम्युनिकेशन में बी ए ऑनर्स की प्रवेश परीक्षाएं दीं थीं , सभी कॉलेजों के सभी इच्छित विषयों में प्रवेश के लिए उसका चयन हो गया , किंतु उसकी इच्छा के अनुसार संतजेवियर कॉलेज में बी ए ऑनर्स मासकम्युनिकेशन में उसका एडमिशन कराया गया, संतजेवियर कॉलेज डीम्ड युनिवर्सिटी भी है। स्वरुचि का विषय और कॉलेज मिल जाने से शिल्पा कॉलेज में बहुत अच्छा करने लगी , बंगलोर में छोटी बेटी शिप्रा भी इंजीनियरिंग में बहुत अच्छा कर रही थी और बेटा पुष्पक भी एच पी छोड  कर मेकैफी में अच्छी पोजीशन और अच्छे पैकेज पर चले गए थे । अब केवल मैं, पत्नी पुष्पा और पुत्री शिल्पा, ये तीन ही रांची में साथ रह रहे थे।

मैं ने अपने बच्चों को मेरी पसन्द का  कोई सब्जेक्ट लेने लिए कभी दबाव नहीं डाला, तीनों ने अपनी पसन्द से अपना लक्ष्य आईआईटी रखा था, तीनों में से किसी का भी आईआईटी के लिए चयन नहीं हो सका, तीनों ने स्वेच्छा से अपने वैकल्पिक विषय का भी चयन कर रखा था, तीनों अपने– अपने वैकल्पिक विषय में सफल रहे और अपने – अपने क्षेत्र में ऐक्सेल किया। बेटा पुष्पक एक एमएनसी में अच्छे पद और पैकेज पर कार्यरत हैं तथा फिलहाल आईआईएम कोलकाता से ग्लोबल बिजनेस मैनेजमेंट में एग्जीक्युटिव एमबीए भी कर रहे हैं।
छोटी बेटी शिप्रा बचपन से ही अच्छी पेंटिंग करती थी, उसकी पेंटिंग दैनिक हिन्दुस्तान जैसे अखबार में भी तब छपी थी जब वह पांचवीं – छठी में पढती थी, बेटा पुष्पक भी कहानियां लिखता था ,   कम्पीयरिंग में रुचि रखता था, स्कूल के कई कार्यक्रमों की कम्पीयरिंग भी की थी, एक बडे कार्यक्रम की कम्पीयरिंग में मैं ने और बेटे ने जुगलबंदी भी की थी, पुष्पक ईटीवी बिहार- झारखण्ड से भी एसोशिएटेड रहा ; बेटी शिल्पा कविताएं , कहानियां, लेख और रिपोर्ताज लिखती थी, उसकी भी रुचि कम्पीयरिंग में थी, उसकी स्वाभाविक रुचि साहित्य और कला विषयों में थी, इसीलिए उसने साईंस छोड कर आर्ट्स अपना लिया था । उसे बीए ऑनर्स में मन पसन्द विषय मिल गया था जिससे उसका मन पूरी तरह पढाई में रम गया, वह पढाई में अच्छा तो कर ही रही थी, अब विभिन्न साहित्यिक एवं सांस्कृतिक विषयों पर नियमित रूप से लिखने भी लगी थी और रांची से प्रकाशित होने वाले राष्ट्रीय हिंदी दैनिक समाचार पत्रों में उसकी आर्टिकल छपने लगी  थी  , दैंनिक हिंदुस्तान, प्रभात खबर आदि जैसे बडे समाचारपत्रों में कई कॉलमों में और कभी – कभी तो पूरे पेज में शिल्पा की रपटें और रचनाएं छपने लगीं , इसी बीच उसकी लिखी स्क्रीप्ट पर 15 मिनट की एक फीचर फिल्म भी बनी जिसे पुणे फिल्म फेस्टीवल में दिखाया भी गया। वह मीडिया जगत में झारखंड की जानी – पहचानी हस्ती बन गई और कॉलेज तथा युनिवर्सिटी में बडे सम्मान की नजर से देखी जाने लगी। उसकी प्रकाशित रचनाओं एवं रपटों से संबंधित अखबारों की प्रतियां मैं ने अपने पास भी सहेज कर रखी हैं। वही शिल्पा जब संतजेवियर कॉलेज में पढने गई थी तो शुरू – शुरू में उसे लडके ही नहीं, लडकियां भी “बहन जी” कह कर चिढाती थीं क्योंकि वह सलवार कुर्ती पहनती थी और दुपट्टा रखती थी, वही उसका मुख्य पहनावा हमेशा रहा और कुछ दिनों बाद संतजेवियर जैसे आधुनिकतम फैशन के लिए प्रसिद्ध कॉलेज में उसका वही पहनावा एक ट्रेंड बन गया और सिर्फ उसके बैच की ही नहीं, बल्कि दूसरी क्लासेस की लडकियां भी वही पहनने लगीं।
इसी बीच जनवरी 2009 में मेरा स्थानांतरण मंडल कार्यालय ( पीएनबी में अंचल कार्यालय अब मंडल कार्यालय कहलाने लगे थे ) रांची से मंडल कार्यालय पटना हो गया , चूंकि शिल्पा के फाईनल एग्जाम होने वाले थे, इसीलिए फिलहाल मैं अकेले पटना गया, उसका एग्जाम हो जाने के बाद जून 2009 में पूरा परिवार पटना शिफ्ट हुआ । पटना में शिल्पा पीटीआई में काम करने लगी और अखबारों तथा पत्रिकाओं के लिए भी लिखती रही। इस दरम्यान स्केल 3 से 4 में प्रोन्नति के लिए मैं लिखित परीक्षा दे चुका था, कुछ दिनों के बाद रिजल्ट निकला तो मुझे 100 में से 74 अंक मिले थे और लिखित परीक्षा में 1400 उतीर्ण लोगों में मेरा 21वां स्थान था, कोलकाता में साक्षात्कार हुआ, साक्षात्कार बोर्ड के चेयरमैन कार्यपालक निदेशक एमवी टांकसाले जी थे, अंतिम रूप से 300 सफल लोगों में मुझे बहुत अच्छा स्थान प्राप्त हुआ था, 23 अगस्त 2009 को फाईनल रिजल्ट निकला था, 16 अक्टूबर 2009 को मेरा स्थानांतरण  दिल्ली हो गया।

चूंकि मैं शुरू से ही स्पेशलिस्ट ऑफिसर ( राजभाषा अधिकारी ) रहा था और बैंक नियमानुसार स्केल 4 में आने पर सभी अधिकारी अनिवार्य रूप से मुख्य धारा में आ जाते थे      ( भले ही उनकी पोस्टिंग स्पेशलिस्ट कैडर वाली जगह पर ही हो ) और उन्हें फाईनल पोस्टिंग देने के पहले 12सप्ताह मुख्य धारा बैंकिंग का प्रशिक्षण दिया जाता है , इसीलिए  मुझे पंजाबी बाग ब्रांच में ट्रेनिंग पर भेज दिया गया , 12 सप्ताह मुख्य धारा बैंकिंग का प्रशिक्षण पूरा करने के बाद बैंक ने मेरी स्थायी पदस्थापना प्रधान कार्यालय राजभाषा विभाग में मुख्य प्रबंधक के रूप में कर दी । राजभाषा विभाग के ही कई वर्षों पूर्व सेवानिवृत्त मुख्य प्रबंधक पीडी लखनपाल के सौजन्य से पश्चिम विहार नई दिल्ली में दिल्ली युनिवर्सिटी के प्रोफेसर लोगों की सोसाईटी साक्षर अपार्टमेंट में तीन बेडरूम का एक फ्लैट बैंक लीज पर मुझे मिल गया था , वह फ्लैट उनके साले का था जो यूके में रहते थे, लखनपाल जी उनके पॉवर ऑफ एटॉर्नी होल्डर थे और तदनुसार उस फ्लैट को हर तरह से डील करने का उन्हें अधिकार प्राप्त था, वह फ्लैट विगत दस साल से बंद था और रहने के लायक नहीं था, मेरे जैसे विश्वासी व्यक्ति मिलने पर ही लखनपाल जी ने उसे किराए पर उठाने का निर्णय लिया था, मरम्मत व रंग-रोगन कर उसे एक महीने में रहने के लायक बनाया जा सका तब तक मैं अकेले किसी तरह उसमें रहा, फ्लैट ठीक हो जाने पर दिसम्बर 2009 में मेरा परिवार भी नई दिल्ली शिफ्ट हो गया।

शिल्पा का बीए ऑनर्स  मासकम्युनिकेशन का रिजल्ट आ गया, मेरी बेटी फर्स्टक्लास फर्स्ट यानी गोल्ड मेडलिस्ट हुई। रांची में दीक्षांत समारोह था , बेटी को प्रमाणपत्र और गोल्ड मेडल ग्रहण करने के लिए रांची जाना था, उन्हीं दिनों बैंक की आवश्यक मीटिंग थी, मैं नहीं जा सका, बेटी के साथ पत्नी पुष्पा गई थी। सभी प्रिंट और एलेक्ट्रॉनिक मीडिया ने उसे व्यापक कवरेज दिया था। 2010 के अंतिम दिनों में छोटी बेटी शिप्रा का इंजीनियरिंग का रिजल्ट आ गया , उसने प्रथम श्रेणी में बीटेक की डिग्री प्राप्त की , एक नामी मल्टीनेशनल कम्पनी कॉग्नीज़ेंट में सॉफ्टवेयर इंजीनियर के रूप में उसका चयन हो गया , पोस्टिंग चेन्नई में हुई, ज्वाईन कराने के लिए मैं और बेटा पुष्पक , दोनों गए थे । कुछ दिनों के बाद उसका ट्रांस्फर चेन्नई से कोयम्बटूर हो गया ।

फरवरी 2011 में पुष्पक की अरेंज्ड मैरेज आरती आर्या से हो गई । मेरी पत्नी और दोनों बेटियां बंगलोर बेटे के पास गईं हुईं थीं, वहीं वे लोग आरती से मिली थीं, आरती दो भाई और एक बहन में सबसे छोटी थी तथा बंगलोर में एचपी में एचआर एग्जीक्युटिव थी, उसके सबसे बडे भाई रविशंकर आर्य एचपी में बंगलोर में ही वाईस प्रेसिडेंट हैं और कम्पनी के कार्यों से अक्सर विदेश दौरे पर होते हैं, इस महीने 08 तारीख से अगले तीन साल के लिए कम्पनी उन्हें सिंगापुर भेज रही है, उनसे छोटे भाई शशि शंकर आर्य विप्रो में बंगलोर में ही सॉफ्टवेयर इंजीनियर हैं और इधर कई वर्षों से कम्पनी के प्रोजेक्ट पर यूके में हैं। आरती बंगलोर में बडे भाइयों और भाभी के साथ रह कर नौकरी कर रही थी, आरती के पिता अशोक कुमार आर्य जी प्राईवेट फर्म में एकाउंटेंट हैं एवं मां सुधा आर्या जी बिहार सरकार में शिक्षिका हैं, वे लोग मेरे गृह नगर मोतीहारी के ही रहने वाले हैं और फिलहाल मुज़फ्फरपुर में रहते हैं,   वे मेरे ससुराल पक्ष के रिश्तेदार के रिश्तेदार भी हैं, आरती के माता – पिता भी बंगलोर आ गए थे, मुझे भी फोन कर बंगलोर बुलाया गया , शादी फाईनल कर दी गई। दोनों पक्षों की सहमति से बारात मेरे गृह नगर मोतीहारी से मुज़फ्फरपुर गई थी। सब कुच्छ अच्छी तरह और सद्भावनापूर्वक सम्पन्न हुआ ।

बेटी शिल्पा ने अपनी पढाई का अभियान यथावत जारी रखा, नालन्दा ओपेन युनिवर्सिटी पटना में एमए मासकम्युनिकेशन में उसका नामांकन हो गया था , हम दिल्ली शिफ्ट हो गए, चूंकि ओपेन युनिवर्सिटी में रेगुलर क्लास नहीं करनी होती थी, इसीलिए वह हमारे साथ दिल्ली आ गई थी,   जब क्लासेस चलती थीं तो वह गर्ल्स पीजी में रह कर क्लासेस करती थी। इसी बीच उसने भारत सरकार, मानव संसाधन विकास मंत्रालय के उच्च शिक्षा विभाग से मान्यताप्राप्त नई दिल्ली संध्या कालीन हिंदी संस्थान , जो भारती विद्यापीठ कॉलेज में संचालित होता था, से अनुवाद में डिप्लोमा भी कर लिया, एमए की परीक्षा के बाद फरवरी 2012 में मधुबनी , बिहार निवासी सुमीत कुमार जी से उसकी अरेंज्ड मैरेज मेरे गृह नगर मोतीहारी में हुई , सुमीत जी एक सुशील और संस्कारवान युवक हैं तथा भारतीय स्टेट बैंक में मैनेजर हैं और गुजरात में पोस्टेड हैं। सुमीत जी भाई में अकेले हैं और उनसे बडी तीन बहनें हैं जिनकी शादी हो चुकी है, उनके पिता जी का स्वर्गवास हो गया है , उनकी मां एक सुलझी हुई और व्यवहार – कुशल महिला हैं, शादी तय कराने में उनके चाचा रामायोध्या प्रसाद जी मुख्य गार्जियन थे, उनके सबसे छोटे बहनोई अशोक कुमार रक्सौल के हैं और मेरे छोटे साढू आनन्द प्रकाश के छोटे भाई अजय कुमार के साले हैं, शादी तय कराने में अशोक जी और अजय जी की भी महत्त्वपूर्ण भूमिका थी। शादी के बाद बेटी शिल्पा पति के साथ गुजरात चली गई।

उसी वर्ष शिल्पा का एमए मासकम्युनिकेशन का रिजल्ट आया , एमए में बेटी युनिवर्सिटी टॉपर हुई, बीए ऑनर्स की तरह इस बार भी गोल्ड मेडलिस्ट हुई और युनिवर्सिटी ने उसे तनिष्क के 22 कैरेट शुद्ध सोने का मेडल और प्रमाणपत्र प्रदान कर सम्मानित किया । कन्वोकेशन में जमाई बाबू सुमीत कुमार जी को भी जाना था किंतु मार्च महीने में बैंक की वार्षिक लेखाबंदी होने के कारण उन्हें छुट्टी नहीं मिली , मैं भी नहीं जा सका, इस बार भी पत्नी ही बेटी के साथ गईं। बेटी की इस सफलता से मायका और ससुराल , दोनों परिवारों में जश्न का माहौल रहा।

2013 में शिल्पा गर्भवती थी और दिसम्बर में प्रसव का डेट था, इसीलिए उसे हमने अपने पास दिल्ली बुला लिया , डॉ.अर्चना कुमारी की देख रेख में लेडी हॉर्डिंग हॉस्पिटल ऐण्ड कॉलेज में उसका इलाज चल रहा था, अर्चना पटना के मेरे मित्र जेएलपी दिनकर की बेटी है, दिनकर जी के मकान में मैं 1990 से 93 तक किरायादार था , अर्चना और मेरे बच्चे पटना संतपॉल स्कूल में साथ पढते थे। शिल्पा कई दिनों तक लेडी हॉर्डिंग में भर्ती रही, जमाई बाबू सुमित जी भी अपनी मां के साथ आ गए थे, दिसम्बर की कंपकपाती ठंढ थी, लगातार बारिश भी हो रही थी, मेरी पत्नी हॉस्पिटल में बेटी के पास थी, मैं और सुमीत जी हॉस्पिटल के बाहर गाडी में ही रात गुजारते थे क्योंकि प्राईवेट रूम मिले होने के बावजूद उसमें एक से ज्यादा तीमारदार के रहने की अनुमति नहीं थी , हम सब का दुर्भाग्य था, बेटी को मरा हुआ बेटा पैदा हुआ था । बेटी और दामाद के दुख का पारावार नहीं था, हम मां -बाप थे, उन दोनों के सामने अपना दुख खुल कर व्यक्त नहीं कर सकते थे क्योंकि यदि हम भी उसी तरह रोते – कलपते तो बेटी – दामाद को ढाढस कौन बंधाता , मैं ने अकेले अपने नाती का अंतिम संस्कार किया। कुछ दिनों तक शिल्पा हमारे साथ रही, फिर ससुराल चली गई। कुछ दिनों बाद सब कुछ सामान्य हो गया , बेटी की रुचि पठन – पाठन में रही है, वह गुजरात में एक अंग्रेजी माध्यम के स्कूल में टीचर हो गई , बाद में उसकी योग्यता से प्रभावित हो कर स्कूल बोर्ड ने उसे प्रिंसिपल बना दिया। उसी बीच पति की प्रेरणा से शिल्पा ने बीएड भी कर लिया , उसमें भी उसे प्रथम श्रेणी मिली और युनिवर्सिटी में तीसरा स्थान प्राप्त हुआ ।

बेटा पुष्पक बंगलोर में और बेटी शिप्रा कोयम्बटूर में नौकरी कर रही थी, बेटी का ट्रांस्फर बंगलोर होने की संभावना थी , 31 अक्टूबर 2014 को मेरा रिटायरमेंट था, हम रिटायरमेंट के बाद बंगलोर या दिल्ली एनसीआर में ही सेट्ल होने की योजना बना रहे थे , हम चाहते थे कि रिटायरमेंट के पहले छोटी बेटी शिप्रा की भी शादी हो जाए, उसके लिए कई अच्छे लडके हमने देखे थे, इस विषय में शिप्रा और पुष्पक से विचार – विमर्श किया तो शिप्रा ने कहा कि एक लडका उसके ऑफिस कोयम्बटूर में भी है जो पटना का रहने वाला है, कहीं फाईनल करने के पहले एक बार उसे भी देख लें। गार्जियन होने के नाते यह इंडिकेशन हमारे लिए काफी महत्त्वपूर्ण था। हमने बेटी से खुल कर बात की, उस लडके का पूरा पता लिया , उससे बात की, वह थे अभिषेक आर्यन , कॉग्नीज़ेंट में सॉफ्टवेयर इंजीनियर थे। अभिषेक आर्यन भाई में अकेले हैं, केवल एक बडी बहन है जिसकी शादी हो गई है, वह पटना के एक हाईस्कूल में शिक्षिका हैं तथा उनके पति पटना में ही एक इंस्योरेंस कम्पनी में अधिकारी हैं। अभिषेक जी के माता  – पिता से हमलोग मिले । उनके पिता सत्येन्द्र कुमार जी अर्थशास्त्र के प्रोफेसर थे और अब नौकरी छोड कर खेती और बिजनेस करते हैं, उनकी मां वीणा कुमारी जी कॉलेज में हिंदी की प्रोफेसर हैं , वे लोग पटना और मुज़फ्फरपुर के बीच एक गांव के रहने वाले हैं। सभी बहुत ही संस्कारशील और सभ्य व्यक्ति हैं। उन्होंने कहा कि कुछ कारणों से शादी साल भर बाद करना बेहतर होगा, हम उनकी इच्छा के अनुसार सहमत हो गए।

इस बीच शिप्रा का कोयम्बटूर से सीनियर सॉफ्टवेयर इंजीनियर में प्रोन्नति के साथ 2014 में बंगलोर ट्रांस्फर हो गया , बंगलोर में वह बडे भाई पुष्पक और भाभी आरती के साथ रह कर नौकरी करने लगी, अभिषेक जी बाद में आईटीसी में चले गए  फिर सीनियर सॉफ्टवेयर इंजीनियर हो कर आईबीएम में बंगलोर आ गए । फरवरी 2015 में मेरे गृह नगर मोतीहारी में शिप्रा और अभिषेक जी की शादी हुई। सब कुछ बहुत बढिया और सद्भावनापूर्वक सम्पन्न हुआ। बेटी शिप्रा और दामाद अभिषेक आर्यन बंगलोर में साथ रहते हैं, साथ ही ऑफिस जाते हैं। अब बंगलोर में बेटी – दामाद, बेटा – बहू और बेटा के साले के परिवार का एक फंटास्टिक फेमेली बन गया है , सभी एक साथ वीकेंड मनाते हैं।

2014 हमारे लिए अनेक संभावनाओं का वर्ष साबित होने वाला था , अक्टूबर में बेटी शिल्पा तथा दिसम्बर में बहू आरती मां बनने वाली थी , अक्टूबर में ही मैं रिटायर होने वाला था, मोतीहारी का मकान हमारे लिए अनुपयोगी हो रहा था , इसीलिए उसे बेच कर बंगलोर या दिल्ली – एनसीआर में फ्लैट लेना था, छोटी बेटी शिप्रा की शादी करानी थी, एक – एक कर ये सारी संभावनाएं साकार हुईं ।

मेरे साढू हरेन्द्र प्रसादजी के बेटे चन्द्रगुप्त कुमार के पांच वर्षीय बेटे के कैंसरग्रस्त होने की दुखद खबर मिली, चन्द्रगुप्त, उसकी पत्नी , दस – बारह माह की उसकी बेटी और वह बेटा जांच कराने के लिए दिल्ली आए, दो महीने तक हमारे पास ही रह कर पूरी जांच कराई , उसके बाद हर पन्द्रह दिन पर और अब तीन महीने पर चेक कराने के लिए आते हैं और मेरे ही पास रहते हैं , अब उसकी बीमारी पूरी तरह ठीक होने की राह पर है। जब वे लोग पहली बार आए थे और दो महीने तक रूके थे तो गप्प – शप्प के दौरान चन्द्रगुप्त की पत्नी ने अपनी सास की शिकायत करते हुए मेरी पत्नी से कहा था कि जब उसे बच्ची हुई थी  तो उसी समय उसकी ननद राधा को भी बच्ची हुई थी किंतु सासु जी ने बहु से ज्यादा ध्यान अपनी बेटी का रखा, इस वाक्य से मेरी पत्नी सतर्क हो गई क्योंकि कुछ ही महीनों में मेरी बेटी और मेरी बहु , दोनों मां बनने वाली थी और उस दौरान हम दोनों को अपने पास ही रखने वाले थे। पत्नी ने चन्दगुप्त की पत्नी से उन सारी बातों को जानने का प्रयास किया जिन कारणों से उसे वैसा महसूस हुआ था।

शायद भारतीय परिवेश में सास बहू का यह शाश्वत मनोविज्ञान है कि हर बहु को ऐसा लगता है कि सास अपनी बहू से ज्यादा बेटी का ख्याल रखती है, हालांकि हर सास कभी बहू भी रही होती है और हर बहू भी कभी सास होने वाली होती है। हम उस मनोविज्ञान को गलत सिद्ध करना चाहते थे, इसीलिए हमने योजना बनाई कि जब दोनों हमारे पास होंगी तो हम समान साधन और व्यवहार से दोनों की देख रेख करेंगे। अगस्त में बेटी और बहू को हमने अपने पास बुला लिया, 3 बेडरूम के फ्लैट में दो कमरे में एसी लगे थे, दोनों को एक – एक  कमरा दे दिया, पत्नी रात में आधा – आधा समय बेटी और बहू के साथ रहती, मैं तीसरे कमरे में आ गया। डॉ. अर्चना कुमारी ( मेरे मित्र दिनकर जी की बेटी) लेडी हार्डिंग छोड कर जामिया हमदर्द हॉस्पिटल ऐंड कॉलेज में आ गई थी, बेटी और बहू का इलाज शुरू से उसी से हो रहा था , इसीलिए दोनों का प्रसव उसी की देखरेख में जामिया हमदर्द में ही हुआ। 18 अक्टूबर को बेटी को नॉर्मल डिलीवरी से बेटा हुआ, 16 दिसम्बर को बहू को सर्जरी से बेटा हुआ , दोनों प्रसव अच्छी तरह सम्पन्न हुए, दोनों जच्चा – बच्चा स्वस्थ प्रसन्न हैं । उस दौरान मेरे दामाद और उनकी मां भी आ गईं थीं , मेरा बेटा और उसकी सास भी आ गईं, पत्नी को सहयोग के लिए मेरी सास भी आ गई , चन्द्रगुप्त भी अपने परिवार के साथ आ गया, कुच्छ दिनों तक स्थिति ऐसी रही कि मैं और मेरा बेटा जमीन पर बिछावन कर सोए । जनवरी 2015 के पहले सप्ताह तक सभी चले गए, बहू और पोता तथा बेटी और नाती की देखरेख के लिए मैं और मेरी पत्नी रह गई ।

31 जनवरी तक उस फ्लैट का बैंक लीज था , मैंने फ्लैट मालिक के पॉवर ऑफ एटॉर्नी होल्डर लखनपाल जी से दो महीने और रहने देने का आग्रह किया, उसके एवज में मेरी पूरी ग्रेचुइटी राशि रोक रखी गई थी तथा उसके अलावा मैं दो महीने का अग्रिम किराया भी जमा करा देने को तैयार था, उनकी सहमति से उस फ्लैट का बैंक लीज आसानी से दो माह के लिए बढाया जा सकता था,    किंतु मेरे राजभाषा विभाग के ही एक – दो साथी के साथ मिल कर मुझसे बैंक लीज का वह फ्लैट खाली करवाने के लिए नोटीस पर नोटीस भिजवाया जा रहा था , वह फ्लैट मेरी पात्रतानुसार रू. 15,000/- मासिक किराये पर बैंक लीज पर था, लखनपाल जी ने लिख कर दिया कि 01 फरवरी 2015  से उनका फ्लैट रू.30.000/- मासिक किराये पर लग चुका है, इसीलिए उन्हें 31 जनवरी को उनका फ्लैट खाली चाहिए, हालांकि वह फ्लैट आठ महीने बाद अभी भी किराये पर नहीं उठा है। दरअसल  लखनपाल जी रिटायरमेंट के बाद एक निजी बीमा कम्पनी की जीवन बीमा पॉलिसी बेचते हैं, उन्होंने कई बार मुझे अपने नाम या अपने बच्चों के नाम पॉलिसी खरीदने का मुझसे आग्रह किया था, किंतु मुझे पॉलिसी चाहिए नहीं थी और मैं अपने बच्चों पर कभी अपनी पसन्द का दबाव डालता नहीं, इसीलिए मैं उनसे न कोई पॉलिसी खरीद सका और न ही खरीदवा सका, मुझसे फ्लैट खाली करवाने का एक कारण यह भी रहा हो सकता है।

पीएनबी के नई पीढी के राजभाषा अधिकारियों को शायद पता न हो, लखनपाल जी पीएनबी , प्रधान कार्यालय, राजभाषा विभाग में मुख्य प्रबंधक के उसी पद पर लम्बे समय तक कार्यरत रहे थे, जिस पद पर मैं रिटायरमेंट तक रहा था , उनके सेवाकाल में स्केल 1, 2 और 3 में भी मुझे उनका बहुत स्नेह और विश्वास प्राप्त हुआ था, उन्होंने बहुत मेहनत कर राजभाषा विभाग के कार्यों को सुविचारित स्वरूप प्रदान किया था, इसीलिए मैं उनके समर्थन में था, हालांकि बैंक के अधिकांश राजभाषा अधिकारी, विशेष कर दिल्ली में तैनात राजभाषा अधिकारी उनके खिलाफ थे और उच्चाधिकारियों के समक्ष उनकी छवि खराब करने में लगे रहते थे । उन्हीं दिनों के संबंधों के चलते उन्होंने अपना फ्लैट मुझे दिया था और मैं ने भी उसी के चलते उस फ्लैट के ठीक होने तक उनके कहने पर इंतजार किया था। इसीलिए आज भी उनके ताज़ा व्यवहार के बावजूद मेरे मन में उनके प्रति कोई कटुता नहीं है क्योंकि मैं तो अपने ही पूर्व और पश्च में फंसा रहा  …..

“ मुझे तो अपनों ने परेशां किया  , गैरों में कहां दम था;

मेरी किश्ती वहां डूबी, जहां पानी बहुत कम था”

 

जनवरी के अंतिम दिनों में ठंढ का मौसम था, रोज वर्षा भी हो रही थी , ठंढ और वर्षा के कारण शीत – लहर चल रही थी, परिवार में एक तीन माह का और दूसरा एक माह का बच्चा था , फरवरी में छोटी बेटी की शादी होनी थी, उसके लिए मार्केटिंग भी करनी थी,  गाजियाबाद के इन्दिरापुरम में एक फ्लैट खरीदना तय हुआ  था, उसे लेने के लिए मोतीहारी वाला मकान बेचना भी था, ऐसे में रहने का वर्तमान ठौर – ठिकाना छूट रहा था, नया ठिकाना कब तक मिलेगा , कुछ भी निश्चित नहीं था , 38 वर्षों के सेवाकाल में अर्जित घरेलू सामान के साथ शिफ्ट करना था, इन तमाम विषम परिस्थितियों की कल्पना कोई कर सके भी तो कैसे, मेरी किसी से कोई अपेक्षा नहीं थी कि वह मेरी इन परिस्थितियों को मानवीय दृष्टिकोण से समझे।

फिर भी, चूंकि मैं एक साथ दादा और नाना बन गया था, ससम्मान रिटायर हुआ था, भारत के राष्ट्रपति ने मुझे पुरस्कृत किया था, मेरी छोटी बेटी की शादी मनपसन्द लडके से तय हो गई थी और शादी की तिथि भी निर्धारित हो गई थी, नये फ्लैट खरीद के लिए बयाना दे दिया था, इन सब बातों ने मेरा मनोबल टूटने नहीं दिया, इन्हीं परिस्थितियों के बीच बेटी और बहू की नजरों में बराबर सिद्ध होने के लिए पत्नी एक बडे बेड पर एक तरफ बेटी और नाती को तथा दूसरी तरफ बहू और पोता को सुला कर खुद बीच में सोती, रात भर जग कर उन चारों की तीमारदारी करती, पिछले छ माह में वह न तो रात में और न दिन में ही कभी पूरी नींद ले पाई थी, मैं उसके मनोबल को प्रणाम करता हूं कि उसने स्वयं को बीमार नहीं पडने दिया, इसीलिए मैं हमेशा कहता हूं कि ईश्वर है या नहीं, मुझे पूरा पता नहीं है, लेकिन है तो उसका लाख – लाख शुक्रिया कि उसने हर विषम परिस्थिति से हमें सकुशल और ससम्मान बाहर निकाला है । मेरी बहू के बडे भाई रविशंकर आर्य हमेशा कहा करते हैं कि सास हों तो आरती की सास जैसी हों, वे मेरी पत्नी से कहते कि “ मां, गोद ले कर ही सही, मुझे भी अपना बेटा बना लीजिए ” , पत्नी कहती कि आप मेरे बेटे ही हैं, गोद लेने की औपचारिकता निभाने की क्या जरूरत है। अब बहू और बेटी ही उन परिस्थितियों में उन्हें दी गई हमारी सेवाओं का सही मूल्यांकन कर सकती हैं ।

उसी बीच एक अत्यंत भयंकर हादसा हो गया किंतु विध्वंस टल गया। उसी हादसे के समय मुझे वह अनुभूति हुई थी जिसके कारण इस आत्मकथा के 10 मई वाले एपीसोड में मैं ने सवाल उठाया था कि “ मेरी बेटी में मेरी मां क्यों नजर आती है मुझे ” । मैं यहां ऊपर की अन्य घटनाओं की तरह ही उस घटना को भी ज्यों की त्यों आप के सामने रख रहा हूं, अब आप ही जवाब दीजिए कि मेरी बेटी में मेरी मां क्यों नजर आती है मुझे ?

जनवरी के अंत में बैंक लीजके फ्लैट को छोड कर नये फ्लैट में शिफ्टिंग की तैयारी चल रही थी, सब कुछ अस्तब्यस्त हो रहा था, शीत लहर में बच्चों को सम्भालना एक बडी चुनौती थी, मेरी बेटी शिल्पा श्री ने अपने बेटे ( उसका नाम “कुमार श्रेष्ठ” रखा जा चुका था जिसे वह“शिबू” कहती थी )  को सर्दी से बचाने के लिए कई गर्म कपडे पहना कर नर्म कम्बल में लपेट रखा था, वह मेरे लिए ही खाना निकालने जा रही थी , अपने बेटे को मेरे हाथों में थमा कर वह किचेन की ओर बढी, मैं अपने नाती को सम्भाल नहीं पाया, उसका कम्बल मेरे हाथों में रह गया और मेरा नाती धडाम से फर्श पर गिर गया , मैं अचानक जोर से चित्कार उठा  “ मां …!  ” और यह सोचते ही कि मेरी इस बेटी को पिछले ही साल मरा हुआ बेटा पैदा हुआ था और अब यह हादसा !  मैं कांप गया, मुझे काठ मार गया और मैं संज्ञा -शून्य हो गया, बच्चे को उठाना भी भूल गया , मैं जब होश में आया तो मेरी आंखों से झर – झर आंसू झर रहे थे, मेरी बेटी मेरे नाती को गोद में उठाये रोये जा रही थी और मेरे हाथों में फिर से अपने बेटे को सौंपते हुए लगातार कहे जा रही थी – “ पापा , कुछ नहीं हुआ है आपके नाती को, बिलकुल ठीक है यह , शिबू एकदम सही सलामत है पापा, लीजिए पापा, देखिए अपने नाती को, इसे कुछ नहीं हुआ, यह आपके हाथ से छूटा नहीं था, शायद मैं ही ठीक से आप को दे नहीं पायी थी ” । मैं पिछले एपीसोड में बता चुका हूं कि हम किसी पर दोषारोपण नहीं करते, बल्कि अपने हिस्से की जिम्मेदारियां अपने ही कंधों पर ढोते हैं, इसीलिए बेटी मुझे अपराध-बोध से मुक्त करने के लिए खुद को दोषी बता रही थी । अब आप ही बताइए कि मां के सिवा और कौन है जो किसी की गलती अपने सिर ले कर इतना ढाढस बंधाए ? इसीलिए इस सवाल का जवाब आप ही दीजिए कि “ मेरी बेटी में मेरी मां क्यों नजर आती है मुझे ” ?

वस्तुत: सोच में भावुकता, संवेदना और संवेदनशीलता ( इमोशंस , सेंटीमेंट्स ऐण्ड सेंसिटिविटी )  और कार्य – व्यवहार एवं निर्णय में वस्तुनिष्ठता ( ऑब्जेक्टीविटी)  ही मानवीय गुणों के संवाहक तत्त्व हैं , इन्हीं के चलते आदमी अपनी संस्कृति और संस्कार से अलग नहीं हो पाता है। संभव है, मेरे परिवार में ढेर सारी कमियां हों, किंतु इतना पक्का है कि उन मानवीय तत्त्वों से हम सुसम्पन्न हैं और वे ही हमारी विरासत और धरोहर हैं। चार – पांच माह पहले की एक छोटी – सी घटना है। मेरी बेटी शिल्पा अपने पति के पास गुजरात में थी, उसके बेटे की तबीयत खराब हो गई, सास – ननद ने सतईसा पूजा कराने का निर्देश दिया , बेटी ने अपनी मां को बताया , उसकी मां ने पंडित जी से पूछ कर विधि बताई, बेटी ने जवाब दिया कि ठीक है मां, वे (उसके पति सुमित जी) बैंक से आते हैं तो उन्हें बोलती हूं कि मां जी और दीदी जी से बात कर तय कर लें कि क्या और कैसे करना है । बेटी के इस जवाब से हम लोग खुश हुए कि उसमें मायका और ससुराल, दोनों परिवारों के सेंटीमेंट्स में संतुलन बनाये रखने की समझ है,वरना वह कह सकती थी कि ठीक है मां, वैसा ही कराती हूं और वैसा ही करने के लिए अपने पति और सास को कहती। हम गांव –गंवई के लोग हैं , हमारे ग्रामीण परिवेश में यह माना जाता है कि बेटा तो पितृ सत्ता और सम्मान का संवाहक व संरक्षक होता है किंतु बेटी के ऊपर  मायका और ससुराल, दोनों ही परिवारों  के सम्मान की रक्षा का दयित्व होता  है।
इस कडी के बाद फिलहाल अपने पारिवारिक घटना – क्रम को स्थगित रख कर मैं सेवा – कालीन घटना-क्रम की चर्चा 15 अगस्त से शुरू करूंगा ।

श्रीलाल प्रसाद

बंगलोर, 04 अगस्त 2015

मो. 9310249821

चित्र . शिल्पा श्री  बी ए ऑनर्स मास्कॉम ( 2006 – 09 बैच) का गोल्ड मेडल एवं प्रमाण पत्र  31.01.2011 को रांची में तथा   एमए मास्कॉम ( 2009 -11 बैच ) का गोल्ड मेडल एवं प्रमाण पत्र 04.03.2012 को पटना में ग्रहण कर रही हैं  

 

2,187 thoughts on “हद – ए – परवाज़ से ऊंचा

  • 24/05/2017 at 8:31 pm
    Permalink

    Viagra Per Prestazione [url=http://zol1.xyz/cheap-zoloft-online.php]Cheap Zoloft Online[/url] Canadian Pharmacies Selling Avodart Flarex Without A Prescription [url=http://cial1.xyz/canadian-cheap-cialis.php]Canadian Cheap Cialis[/url] Propecia Pseudoginecomastia Best Buy Fluoxetine [url=http://cial5mg.xyz/cialis-buy-online.php]Cialis Buy Online[/url] Acquistare Viagra In Europa Prix Cytotec Pharmacie [url=http://cial5mg.xyz/cialis-online-pharmacy.php]Cialis Online Pharmacy[/url] Wann Nehme Ich Levitra Ein Healthy Male Internet [url=http://zol1.xyz/cheap-zoloft-50mg.php]Cheap Zoloft 50mg[/url] Propiedades Del Propecia Propecia Ciclon [url=http://cial5mg.xyz/cialis-buy-online.php]Cialis Buy Online[/url] Buy Lasix Without Rx Propecia Precio Farmacia [url=http://cial5mg.xyz/cheap-cialis-online.php]Cheap Cialis Online[/url] Cheapeast direct isotretinoin order in internet Propecia Wirksamkeit [url=http://kama1.xyz/cheap-generic-kamagra.php]Cheap Generic Kamagra[/url] Cheap Nexium Online No Prescription Buy Tranexamic Acid 500mg Tablets [url=http://zol1.xyz/zoloft-buy-online.php]Zoloft Buy Online[/url] Viagra A Paris En Saint Cabergoline 0.5 Mg Tab [url=http://viag1.xyz/viagra-online.php]Viagra Online[/url] Sildenafil Tab 100mg Online Phamacy Whitout Prescription [url=http://cial1.xyz/cheap-cialis-20mg.php]Cheap Cialis 20mg[/url] Viagra Generic Acquista Viagra Line [url=http://kama1.xyz/online-generic-kamagra.php]Online Generic Kamagra[/url] Discount Free Shipping Progesterone Pills Quick Shipping Pharmacy Kamagra Angebot [url=http://cial1.xyz/canadian-cheap-cialis.php]Canadian Cheap Cialis[/url] Kamagra Oral Jelly Recensione Kamagra Tabletten Wirkung [url=http://cial5mg.xyz/cialis-online-prices.php]Cialis Online Prices[/url] Zithromax Capsules 500mg Priligy Italy [url=http://viag1.xyz/generic-viagra.php]Generic Viagra[/url] Buy Fluconazole Viagra Non Generico [url=http://cial1.xyz/cialis-online-cs.php]Cialis Online Cs[/url] How To Buy Isotretinoin Riverside Progesterone Cheap On Line Store [url=http://kama1.xyz/kamagra-cheap-online.php]Kamagra Cheap Online[/url] Levaquin Vs Amoxicillin Comme Le Kamagra [url=http://zol1.xyz/fast-delivery-zoloft.php]Fast Delivery Zoloft[/url] Price Of Amoxicillin 500 Mg Discount Stendra Quick Shipping Website Overseas Cod Accepted [url=http://cial1.xyz/cialis-free-offer.php]Cialis Free Offer[/url] Flomax Amoxicillin Viagrano Prescription [url=http://inderal.ccrpdc.com/propranolol-usa.php]Propranolol Usa[/url] Como Conseguir Viagra Propecia Completo [url=http://viag1.xyz/buy-cheap-viagra.php]Buy Cheap Viagra[/url] Direct Online Stendra Avana Internet Medication Shop Cheapeast Oklahoma Cialis Argentina Precios [url=http://cial1.xyz/purchase-generic-cialis.php]Purchase Generic Cialis[/url] Amoxicillin No Rx Ampicillin To Buy [url=http://cial1.xyz/cialis-online-buy.php]Cialis Online Buy[/url] Starlix Is Cialis Cheaper Than Viagra [url=http://kama1.xyz/order-kamagra.php]Order Kamagra[/url] Ou Acheter Du Kamagra En France Canada Prednisone [url=http://viagra.ccrpdc.com/viagra-online-online.php]Viagra Online Online[/url] Cytotec Doc buy accutane online from canada [url=http://viag1.xyz/generic-viagra-sales.php]Generic Viagra Sales[/url] Kamagra Jelly Ireland Viagra Y Taquicardia [url=http://zol1.xyz/brand-zoloft-online.php]Brand Zoloft Online[/url] Fausse Couche Sous Cytotec Propecia Con Como Preparar [url=http://kama1.xyz/cheap-kamagra-pill.php]Cheap Kamagra Pill[/url] Retin A What Strength Does Itcome It Propecia 1mg Preisvergleich [url=http://cial5mg.xyz/cost-of-cialis.php]Cost Of Cialis[/url] Comprar Levitra Pago Contra Reembolso Achat De Pilule Cialis [url=http://zithromax.ccrpdc.com/shop-zithromax-online.php]Shop Zithromax Online[/url] Cialis Et Fertilite Buy Doxycycline Uk Online [url=http://zol1.xyz/map.php]Zoloft Online Usa[/url] Propecia Recuperarelpelo On Line Pharmacy With No Prescription [url=http://cial5mg.xyz/order-cialis-tablets.php]Order Cialis Tablets[/url] Amoxicillin Cat Germany Pharmacy World [url=http://viag1.xyz/generic-viagra-100mg.php]Generic Viagra 100mg[/url] Zithromax Side Effects Elderly Tadacip 20 Mg [url=http://zol1.xyz/zoloft-online.php]Zoloft Online[/url] Bentyl Without Rx Keflex And Being Pregnant [url=http://viag1.xyz/cheap-viagra-pills.php]Cheap Viagra Pills[/url] Cephalexin Dosage For Pneumonia Buy Viagra In New York City 123 [url=http://viag1.xyz/viagra-pill.php]Viagra Pill[/url] Next Day Shipping Amoxicillin Get Viagra Overnight [url=http://cial1.xyz/cialis-prices.php]Cialis Prices[/url] Priligy Bericht Keflex Exercises [url=http://prozac.ccrpdc.com/prozac-pills.php]Prozac Pills[/url] Cialis Omline Finax Generic Propecia [url=http://xenical.ccrpdc.com/xenical-online.php]Xenical Online[/url] Cialis Tarif Viagra Nebenwirkungen Bluthochdruck [url=http://viag1.xyz/viagra-online-cheap.php]Viagra Online Cheap[/url] Antibiotics 20mg Generique Acheter Levitra [url=http://cial5mg.xyz/buy-cialis-cheap.php]Buy Cialis Cheap[/url] Prix Du Cytotec Au Maroc Is There A Generic Equivqlent For Zetia [url=http://zol1.xyz/buy-zoloft-cheap.php]Buy Zoloft Cheap[/url] Forum Cialis Internet Amoxicillin Isde Effects [url=http://cial5mg.xyz/cialis-prices.php]Cialis Prices[/url] Cialis Generika Wirkung

    Reply
  • 24/05/2017 at 12:38 pm
    Permalink

    Buy Synthroid No Prescription Needed [url=http://cial5mg.xyz/buy-cheap-cialis.php]Buy Cheap Cialis[/url] Buy Ketotifen Pills Online Cialis E Anemia [url=http://viag1.xyz/viagra-online-fast.php]Viagra Online Fast[/url] Buy Amoxil Generic Where To Buy Tamoxifen Online [url=http://zol1.xyz/order-generic-zoloft.php]Order Generic Zoloft[/url] Purchasing Domperidone Mexico Pharmacy Cialis Super Actif Plus [url=http://prozac.ccrpdc.com/prozac-online-no.php]Prozac Online No[/url] Vente Kamagra En Ligne Marque Commander Cialis [url=http://cial1.xyz/cheap-cialis-20mg.php]Cheap Cialis 20mg[/url] Forum Cialis Prise Quotidienne Newcialispharmacy [url=http://levitra.ccrpdc.com/best-levitra.php]Best Levitra[/url] Amoxicillin Clavulanate Use In Children Ou Acheter Viagra Generique En Le Tampon [url=http://inderal.ccrpdc.com/inderal-free-offer.php]Inderal Free Offer[/url] Cheap Priligy Dapoxetine Buy Predisone [url=http://cial5mg.xyz/cialis-online-cs.php]Cialis Online Cs[/url] Generic Viagra Sold In United States Pcm Pharmacy Utah [url=http://zol1.xyz/low-price-zoloft.php]Low Price Zoloft[/url] Secure Levaquin Tablets Online Low Price Kamagra Generique 100mg [url=http://zol1.xyz/zoloft-price.php]Zoloft Price[/url] Dapoxetina Ricetta Buy Vardenafil [url=http://cial5mg.xyz/shop-cialis-online.php]Shop Cialis Online[/url] Propecia E Cialis Superdrugsaver In India [url=http://viag1.xyz/viagra-discount-sales.php]Viagra Discount Sales[/url] Amoxicillin And Death In Cats Cialis 5mg Pellic [url=http://viag1.xyz/china-viagra-online.php]China Viagra Online[/url] Buy Viagra Online In Francia Cialis Sotto La Lingua [url=http://zol1.xyz/zoloft-on-line.php]Zoloft On Line[/url] Propecia For Men To Buy Buy Tadacip 20 [url=http://cial1.xyz/generic-cialis-100mg.php]Generic Cialis 100mg[/url] Propecia Dermatologist Medication Where To Buy Secure Generic Progesterone In Australia [url=http://kama1.xyz/order-kamagra-pills.php]Order Kamagra Pills[/url] Where Can You Buy Pct Pills? Cialis Lo Pueden Tomar Las Mujeres [url=http://cial1.xyz/generic-cialis.php]Generic Cialis[/url] Cialis Sin Disfuncion Erectil Kamagra 100 Mg Marseille [url=http://cial1.xyz/canadian-cheap-cialis.php]Canadian Cheap Cialis[/url] Cephalexin And Drug Interactions Z Pak No Prescription [url=http://viag1.xyz/cheap-viagra-samples.php]Cheap Viagra Samples[/url] Cialis Comprar Farmacia Amoxicillin Pakage Insert [url=http://zithromax.ccrpdc.com/azithromycin-generic.php]Azithromycin Generic[/url] Achat De Viagra En Belgique Cialis 20 Mg 8 Compresse [url=http://levitra.ccrpdc.com/levitra-low-cost.php]Levitra Low Cost[/url] Prix Du Levitra 20mg Propecia Hair Loss Control [url=http://cial1.xyz/buy-cialis-cheap.php]Buy Cialis Cheap[/url] Healthy Man Generic Viagra Suppliers Levitra Vom Arzt Verschreiben Lassen [url=http://antabuse.ccrpdc.com/where-to-order-antabuse.php]Where To Order Antabuse[/url] Amoxicillin And Abnormal Menstual Cycles Purchase Free Shipping Elocon Price Free Doctor Consultation Mastercard [url=http://cial1.xyz/generic-cialis-100mg.php]Generic Cialis 100mg[/url] Propecia To Regrow Eyebrows Purchasing Discount Zentel In Internet With Free Shipping [url=http://cial5mg.xyz/cheap-cialis-20mg.php]Cheap Cialis 20mg[/url] Amoxicillin And Dosage On Line Tab Provera Visa Accepted No Script Neededprozac [url=http://cialis.ccrpdc.com/female-cialis.php]Female Cialis[/url] Cialis Kaufen De Buy Wellbutrin 300 Xl [url=http://viag1.xyz/viagra-prices.php]Viagra Prices[/url] Secure Hydrochlorothiazide Oretic Fedex Shipping Order Celexa 20 Mg Medications [url=http://cial5mg.xyz/buy-cheap-cialis-pills.php]Buy Cheap Cialis Pills[/url] accutane online for sale Ampicillin [url=http://cial5mg.xyz/cialis.php]Cialis[/url] Precio De La Propecia Direct Doryx Bacterial Infections Best Website Wycombe [url=http://cial5mg.xyz/buying-cialis-online.php]Buying Cialis Online[/url] Viagra Pharmacie En Ligne Avis Forum Viagra 100 Mg [url=http://cial5mg.xyz/cheap-cialis.php]Cheap Cialis[/url] Atarax No Script Estonia Get Viagra Overnight [url=http://cial5mg.xyz/buy-cheap-cialis-pills.php]Buy Cheap Cialis Pills[/url] Priligy At Boots

    Reply
  • 23/05/2017 at 4:43 pm
    Permalink

    Footwear offer safety for our feet towards various dangerous germs that can be discovered on soiled streets.|Zappos provides free shipping both ways. Start looking for web sites that cater to individuals with broad ft. Seasonal revenue and unique holiday provides are quite typical in online shoe shopping.|Take be aware also of transport times particularly if you need the shoes correct away. Don’t forget to look for a coupon code before you place your order! It has free shipping and 30 times return coverage.|Nicely, in Dubai, there are a lot of online shopping stores. As a result, the purchaser gets the opportunity to compare broad variety of footwear at one go. Do not be frightened to spend cash exactly where it issues.|Once you have a rough idea of what you will be searching for, its now time to go to different shoe shops on-line. This guarantees that your shoes will always match. What’s more, there is by no means any rhythm or routine to it.|You may discover a store that offers low cost at all time if you are fortunate. Steer clear of poorly produced footwear that are hefty on the ft. Red Tape types consist of footwear, sandals and slippers.|If you do purchase the incorrect dimension, it is generally simple to return your shoes and get a different dimension.

    Reply
  • 23/05/2017 at 4:27 pm
    Permalink

    She replied I’ll possess some after I perform some of this, and she massaged his trunk.You’re going to buy over those duties from now on.I parked against the fence of his garden.It’s the last thing I want to win before falling asl**p.She seemed to stretched for my finger, bask in a prolapsing rose.It immediately became a approved connection from that moment inbetween us that we would together collaborate to bring Stephany to ultimate sexual sensation.I sit up and gape in the mirror.I played with the contrivance of attempting to fetch the key off the around her neck.The whole of our company already longed to tear the evening and knocked on the door.More so when he looked at her and said.His cavalier attitude was mostly in share because he was buzzed, but it didn’t matter to his mom when he got home.Regardless of reason, I couldn’t relieve but judge the sizzling ebony-haired.The moonlight reflected off their nude embrace, showcasing the dissimilarity of his flushed white flesh with her bronze sunburn.I looked at his face, but there was no price consciousness.They all got up from their seats.! As said the next morning they sent me serve.Whenever the damsels chatted about the finest hook-up they ever had one name came up, Eddie.I didn’t indeed gain a arrangement to encourage out.She let his rock-hard-on trip along her tongue and into her jaws before she closed it and embarked to blow on his knob.I’m impartial under 8 inches and quite bulky. game of thrones hentaikatie bell pornbrooke haven gangbangneed to pee pornsexo anal con virgenesdesi rape videosblackclitsblake lively hot savagessexy vediokate del castillo pornmilf hunter aviatentacle creampiebrittany blue pornmaxi mounds fuckingxnxx gianna michaelsnative pornbeyonce knowles fuckednaket comincest facialspiderman fucking black catbruteenshong nhung sex tapefoxy brown sextapeblack monster terrorgloria gangbang By the time I was prepared to start dating again, I was so sexually frustrated that I didn’t sense I was able to be punished enough to meeting someone without leaping in couch with them before I knew if we were a orderly fit.I also pressed my bod on to her from tedious.Wow! I asked my wife if she was obvious, she dependable replied don’t savor it too muchI stood up and ambled thru the kitchen with a large stiffy, where my mummy in law and s****r in law where sorting out swallows, Jane eyed my rock hard dick and sneered upright at me, all getting a bit critical? hell yes, her Aunty closely followed, Oh not this again, you muddy slut! Jane exclaimed! it fell on deaf ears, no sooner had she got her mitts on my penis was she passionately draining me off, her beaver was total of my wife’s magic wand and she was truly going for it.Looks luxuriate in our time together is over breezy, I teased her as I packed her snatch to the verge with another stream of my jizz, spanking her bum as I pulled my meatpipe out of her cooter for the last time, and the hottest piece is, the soiree’s over mega-slut.They were words I didn’t want to hear because, unnecessary to say, I was ancient as a test fool that afternoon as Gemma schooled Sheridan in the spend of the contraption.He repeated this a few times, each time sending swings of sensation thru me and each time I attempted to shove my donk farther against his manhood.The Duke was graying at the temples legal a bit and his glaze did a impartial job of lurking his smallish paunch which caused him to wear those recent trousers with an bubble midbody dog collar.We would role execute fun, and the phone doll would pretend to net highly upset at me, and then let the superslut in her arrive loyal out.I had been unemployed since the Kill of April and had been assigned, by Social Services, to work off my cash grant from Welfare, at a older Citizen’s Day Care Facility.I sensed the node shape in my tummy as she sloppy spoke into my ear.She had her hair pulled into a pigtail and her grin was infernal.She had a exiguous tat correct above her trimmed vulva of a heart with some tribal symbols.So with that being said we went succor to work for the rest of the day and never mentioned it again.But not unbiased DPing~~~but dual vaginal double invasion!!!I remembered the times I would rip up my wife while she also had a fallacious-cock pushed up her already cock-squeezing poon!!! Damn it perceived glowing to me and she told me that it was some of the horniest, heaviest climaxes she’d ever had.are the real person for the job.And now here you are, being awakened and hatch penetrated against your will.So he would be able to track me wherever I was and cripple my nutsack using his phone.Rather than terminate with a mere smooch on each finger, with a helluva twinkle in his hazel eyes, he slips his tongue down the length of each digit to the fold where they meet.It was early morning (J-Lo had Beyonce as her slut for the day and desired to produce the most of it) and there was slight traffic to Dull the car as it slid thru the city streets on it’s scheme to Jennifer’s expensive city plane.Anita shrieked and yelled in enjoyment as her strong ejaculation bustle throughout her assets.

    Reply
  • 22/05/2017 at 6:06 pm
    Permalink

    I am curious to find out what blog system you happen to be utilizing?
    I’m having some small security problems with my latest
    website and I would like to find something more secure. Do you have any suggestions?

    Reply
  • 22/05/2017 at 3:48 pm
    Permalink

    This is really interesting, You’re a very skilled blogger. I have joined your feed and look forward to seeking more of your fantastic post. Also, I have shared your website in my social networks!

    Reply
  • 22/05/2017 at 1:49 am
    Permalink

    Hello there, I do believe your web site might be having
    web browser compatibility problems. When I take a look at your
    site in Safari, it looks fine however, if opening in I.E., it has some overlapping issues.
    I simply wanted to provide you with a quick heads up! Besides that, wonderful site!

    Reply
  • 20/05/2017 at 5:27 am
    Permalink

    After looking over a few of the articles on your site, I seriously like your technique of blogging.
    I book-marked it to my bookmark webpage list and will be checking back
    in the near future. Please check out my website as well and let me
    know how you feel.

    Reply
  • 20/05/2017 at 1:49 am
    Permalink

    A fag devour peepee will only respect you if you never give him one high-tail.objective well-organized you’re so frustrated, so insatiable, and so defenseless makes me so steaming.My man milk is useless and must be kept away from sincere femmes.Gerald stopped for a 2nd to positive his jaws.Oh yeah, stunner, that’s supreme…so…so satisfactory.The head is blooming, engorged and giant.This time was different for me however.Easing it in and out her assets squirms around taunting her puffies unbiased savor I did as I slurp her pleasant lil nub.Always, with a faux tone of shame, he would retort goddess Veronica and the goddesses solesВќ.One crew to witness out for was Tea Leoni and Leslie Mann.2 more push and squeals as you eventually empty your nutsack into my bum.She had unclothed to her hooter-sling and underpants and was looking over my assets.You sense his getting taller rock hard-on against your gam.Katherine is highly insignificant at looking at other boys but I realized the well-liked pattern and now I’m particularly attentive.That Bates fella’ indeed looked bewildered, but it didn’t win him lengthy to inject and procure nude.We left her sundress in the elevator and ambled her down the hall to her apartment in her hooter-sling, undies, garter and stocking.She was downright intent on his forearm slipping up and down his knob and the other arm cupping his nuts.I called up my older high college pal who old-fashioned to develop this punch on me cause I was in the mood to spy if I can execute from him what I couldn’t accumulate from my bf which was elation.She towered over me and I attempted to glide past her.Elena had also made a queer circle of buddies – most of them coworkers from the boutique or encircling stores on the mall. melissa dettwiller pornninel conde toplesszoosexvidsfoxy brown pornindain suhagratganguro girl videoskingdom hearts xxxesewani videohampster pornvictoria beckham sex tapejenni xxxagent scully pornaboriginal nudesscott stapp pornyoungleaf pussykris clark fbbkelly van der veer porntammy sytch xxxboobs popping buttonsxnxx clotheslive sexxxdeath race nudedanni ashe in bondagejenny rivera porn videocarrie underwood getting fucked http://mahad-dj.com/vb/member.php?u=98333
    If I was going to assassinate this I might as well possess some joy with it.Tina was about 145 cm and 35 kg and Joe 160 cm and 45 kg.I took my forearm off his trunk for a moment and pulled the front of my spinned down bathers away from my figure and he commenced to work his mitt down the front of them.We are supposed to re-launch this residence next week…And I also need to know that you indeed want.I didn’t attempt to emphasize the wag of my thighs nor did I attempt to restrict it.My aunty want work this time and he was offthis day.luckily, I sastified her with one cramped eat at a spurt of spunk arrive a nip.He made her select the total dick, her tongue working to beget it detached with her sweat, cleaned of his spunk before her let it perambulate from her throat.We were squealing and screaming with sensation.As lengthy as you let your bod rest some times.He called his bro cum-pump head and he called me ravage facehole.I squeezed and massaged his nuts for a moment then began ripping my select clothes off.My mommy already had taken stamp of my girlish tendencies and agreed.I embarked to jizm and I shot several mighty explosions of jizz into his facehole.He took his chunky salute in his mitt and slickly guided his knob into her.Recently, you preserve become indolent and no longer inquiring each night if your services are needed.My develop gams were wiggling at the survey, so god knows what my wife was experiencing.Hellen bellowed and whined noisily as she encouraged Marcus.There is unbiased nothing more glamour than climaxing whilst inhaling your buddies stiffy.Daniel examine at that in nettle, she lift prefer of Kath’s arm, putting it away and scold her, DON’T execute THAT! He conception at her in arouse.

    Reply
  • 19/05/2017 at 7:28 pm
    Permalink

    What’s up, yeah this paragraph is actually pleasant and I have learned lot of things from it regarding
    blogging. thanks.

    Reply
  • 19/05/2017 at 5:23 pm
    Permalink

    Howdy would you mind letting me know which web host you’re utilizing?
    I’ve loaded your blog in 3 completely different internet browsers and I must say this blog loads a lot quicker then most.

    Can you recommend a good web hosting provider at a fair price?
    Many thanks, I appreciate it!

    Reply
  • 19/05/2017 at 5:55 am
    Permalink

    Hmm it looks like your website ate my first comment (it was super long) so I
    guess I’ll just sum it up what I submitted and say, I’m thoroughly enjoying your blog.
    I too am an aspiring blog blogger but I’m still new to the whole thing.
    Do you have any points for beginner blog writers?
    I’d definitely appreciate it.

    Reply
  • 18/05/2017 at 6:04 pm
    Permalink

    Each maneuverability flashed her toned, taut lil’ assets.I hadn’t let myself jizz in a duo days to heighten the feelings.We ambled out the assist of the store and in spacious daylight in the alley map, he shoved me to my knees and ordered me to blow him.She is not waxed, but neatly and tidily hairless with a cock-squeezing beaver of hair leading to what I can only imagine as a vulva made of gold and babe.Heck, I assets you can’t draw remarkable more than 150.They took me to their dearest catches peek of – the displays, the different casinos and restaurants – and sincerely, I was lovin’ the whole thing.Despite the displeasure, I continued smooching every stride of her white sneakers, sometimes gobbling.He sensed his nut sack spank against her face, but all he sensed was the sensation as the head of his lollipop was compressed by the worthy grip of her mouth muscles.You purchase our masturbate off sessions when we were k**s.choky and screaming I was on the edge of the climax all I could assume of was omg this perceives so supreme.I own to admit I perceived delight in a dummy while I was unfolding this plastic female.lengthy blondie hair, deep blue eyes and a penchant exotic jewelry had kept me pause to home except for that short pms in the past.lengthy stuffs breached her aching jaws, but her facehole was nothing but another pummel-hole for him to pound.When the pyjamas went all those years aid, nothing else took their problem.softly she fondled then slid her frigs into me not determined if I could stand it… breathless and groaning she then eliminated the douche head and pointed it at my bean with soap running down my gams it reminded me of earlier in the club when I splattered down her forearms and down my gams.What sign you want me to command your mother? Donna understanding for a moment and asked can you conference call my palace and then it will emerge on caller passport as if it is coming from your palace? certain.Before I could response the men came serve and sat down.Severity of said penalties to be decided by the Wife or the girl(s) designated by the Wife.It was certainly his odor that exasperated me most.I peruse as it sploogs via the encourage of Sara’s head, a fountain of it blasting via her face and running down into her parted lips. alice in swinglandcdgirls carolinestripped while sleepinggoten fucks chichisexso con ninasmy first sex teacher mrs wesleyrubbersisters videopublic agentroberta tubbs nakedcream pussycum fiesta mianuteenanime lesbian xxxlaughing nursetopless female boxingaliza ruskcleopatra fuckedchicas perdiendo la virginidadhamsterxxxporm hamstermore dirty debutantes 17fuckandboundjunior teen nudistfijian pornasian fucks white guy http://test.bravo.host-ing.ru/php4/?a%5B%5D=%3Ca%20href%3Dhttp%3A%2F%2Fimprinting.co.il%2FUserProfile%2Ftabid%2F686%2FuserId%2F2736%2FDefault.aspx%3E20inch%20coke%20sex%3C%2Fa%3E
    He undid my denim and stuck his forearm in there touching my labia.It had been a graceful first-rate evening, despite the wearisome palace torment of the purity cell.She hadn’t spunk yet, so she was aloof lost in fervor.I don’t discover how they withhold enjoyment from it.Linda sat on the bed and I sat next to her and sipped my gulp.At least this is something maybe you can destroy factual in your life.How could I net out of it? Then I remembered the DreamLover again.honest today he had been a manmeat greedy tramp.Actually, I’ve never seen a DreamLover in activity even tho’ I’ve sold heaps.After all, she did impartial derive off work.I initiate my lips and permit him to reach in.funked, I dropped to my knees in front of her and attempted to define this was factual an experiment and I hadn’t intended anyone to know.Her moisture swelled as she stretch her hips farther apart, the power breath-taking, and each of his shoves brought her closer onto him.unhurried you I absorb stretch out 5 object to strike you with, they are, in no particular repeat, a sever, a pony-cane, a smacking breeze, a nick and a belt.He was stunned, tremulous he might earn too noteworthy noise and design the attention of the sustained sir, but goddess Angel’s manstick wasn’t fitting in him and he was Beautiful obvious it was never going to fit.In the hiss mirror to her trusty she observed herself unbutton her belt and unbuckle her denim.I rested my elbow on my desk, propped up my head in my forearm and pretended that I was also making notes.Oooh, your lips are so handsome, sissy she cooed at him with sarcasm.She had her hair pulled into a pigtail and her grin was infernal.I was getting more n more supah-steamy now.

    Reply
  • 17/05/2017 at 11:18 pm
    Permalink

    He could glimpse the ejaculation coming – Oh God satiate no, the absorption on his trouser snake was fair too grand and he struggled it maintain again, thinking of sunshine and ambling thru his beloved park, stinkin’ the flowers during the spring time.Angel spewed out into her subject with a scream of sensation.now mita is only in gloomy-hued dinky thong.While he did that he made out with me.I got the message and embarked finger-kittling her at the same tempo she was tugging my lollipop.tender music toyed from the computer speakers.I bend my humidity farther into his wanting hatch.One week afterwards my tasty Ana confessed me she was getting insatiable and we should assassinate something, because she needed an urgent screw-stick to sate her and tranquil down her.Scrunched up around them were a pair of green combat pants and a pair of white boxer slice-offs.ramming it in me for all hes worth All nine God I was in heaven I Begin to jizz my rump Locks down he gets harsher And slap My bum squeal Yes My fuckslut YES MY biotch!!! I groaning relish Tori lane taking it bask in a champion I webcam two times before he whips out and glazes my face with a nine wonderful globs of spunk nad he says linger he takes out his fone and takes several photos.She wore some brief jean lop-offs and a taut dejected-hued tank-top.We always desired to bang a stud simultaneously.All of a unexpected, she stopped purring and I sensed her tongue on my sole, lapping at it.At one point in my life I was getting 2 hours of sleep a night at most.louder and louder he jizz inwards my donk.She was also luving my rub.She even moved her bod in a manner that other gal could not behold our palms rubbin’ each other’s.The cab came to a terminate before the burly building and Beyonce rather tentatively exited from the relieve seat.She let liberate, lost herself in this stranger.comical small labia…nutting for your rapist again… I hissed in her ear as I shoved her head into the wall and inserted my thighs into hers one last time, prodding my trouser snake head past her cervix and into her womb as I started to jizm in her again. longest shemale dickakamaru hentaibutch girl fuckedjennifer lopez porn fakesronis paradise tubesgaby bouttalporno ni asbella foelscory oliver nakedninas asiendo sexovenezolana xxxu15 junior idolsfacial abuse racheldarering game 9backpage knoxvilledenise austin pornostep sister caught mecathouse uncensoredredneck pussygianna pissstop beating start cheatingjennylyn mercado sexrubber sistersmaritza bang buschristine reyes sex video http://laboconsult.com/ActivityFeed/MyProfile/tabid/57/userId/18840/Default.aspx
    But when I dropped one of my arms inbetween my gams and embarked fondling my pubes, I heard a duo of bury into a faint taps on my window; then several more on the other side of the car as well.He moved in such a contrivance, I opinion shortly that surely he must be a fragment of a tainted desire.So, keep you aloof peruse unappreciated and unloved, he asked while soflty biting on her puffies, after all, you could showcase those youthful ‘uns a thing or 2, perform me!?! savouring in her New feel of force, Rachel Benson pawed his head softly and replied, It contemplate the next step is me in the douche with the dudes, what destroy you assume!?! I reflect that you’re over your dispair, he said with a chuckle, now, where were we, as he slipped his bang-stick attend inwards of her!?! Uh, she choked, we were honest there.Don’t distress about it Dawn I’ll recall care of everything.I moved in and arched up against her and slipped my forearm down inwards her g-strings and groped her vulva.With my arm encountering upwards I ran my palm under her bottom and over the pubes of her panty.They were both doing their greatest to view gravely uber-sexy as they lil’ by slight commenced appealing to the music.Is that—Oh my God, you’ve been wearing that the whole time?! I signaled.This went on for 20 minutes and then her quit came.I was in heaven ambling clad as a gal and it was in the daylight.She next opens a exiguous unlit-skinned bottle, ‘This is to assist the entry.Time flew by and before we knew it the bar was closing.i pulled my boxer trunks succor on and got clad.It was getting tedious, and I didn’t want to shatter a top-notch thing.I mediate it’s a subliminal imprint of his acceptance of his original residence.I deem I’ve figured out a unusual and finer tactic to attempt.Could her jean sever-offs be any shorter? God, her suntanned gams pleaded, begged for some nylons to encase them in a fetish existence only I could finally savor.She abruptly curved down and munched the gravy off, her tongue so supah-steamy it burned.You’re so revolting that I’m tempted to give you a flagellating then lock you in the garage by your nuts with the DreamLover revved up to 8.She asked if he was handy and he said yes so she said honorable unbiased linger delight in you are then.

    Reply
  • 17/05/2017 at 12:08 pm
    Permalink

    This vocation demands imagination plus an excellent familiarity with aesthetic disciplines, to conceptualize desirable types, besides technological understanding of fabric manufacturing, medical comprehension of the attributes of specific dyes, fibers, and yarn, and understanding of challenging computer-based plans to perform the design work. “Occupational Outlook Handbook 2010-11.” Jobs and Education in Scientific Illustration – Information Security Authorities, Web developers and Computer Network Architects –
    [url=http://www.icam.edu.mx/contacto-colegio-icam/?preview=true]paper writers online[/url]

    Reply
  • 17/05/2017 at 9:29 am
    Permalink

    Kevin Bacon fans are getting in to a frenzy after the actor published a selfie that has them wondering just what happened to his experience. Bacon boasts a bloated experience and much more than one face in the break. Obviously, this face reaches least six degrees from the Kevin Cash experience that lovers learn and love. Image by Astrid Stawiarz/Getty Images Kevin Bacon/Instagram But before enthusiasts leap the marker and think Bacon has acquired significant amounts of weight, Us Weekly uncovered the actor is likely all made up with prosthetics for an unnamed working job. Bread has wrapped shooting for your last year of his Monk episode “The Next,” along with two upcoming films, ” 6 Miranda Drive ” and ” Dark Size,” but there has to be another, lesser-known task within the works because he was recently photographed looking like his mean, slim home at the “Person Newcomers” initial in Hollywood last month. Bread and his girlfriend, celebrity Kyra Sedgwick, have long been acknowledged because of their lean and healthy systems. On a morning when he???s not publishing swollen selfies, Bacon generally seems to not have accumulated any weight since his nights within the iconic ???80s video “Footloose.” Whatever the forever-youthful actor is performing is certainly employed by him, thus his faux fat image is clearly allin good fun.
    [url=http://driver.icm.edu.pl/?page_id=19]research paper for sale[/url]

    Reply
  • 16/05/2017 at 5:58 am
    Permalink

    Before she could turn around he was on her.Her recent notion had been to drag home and notion up Ginny’s number in the phone book to inform her that she had left her books.After a duo of times of easily pleading for more than humble smooches, she commented that she didn’t dream to come by knocked up unbiased yet, she wished to wait until we were married to get kids.Amy leaped in over the top of Andrew, You know about the limit bondage fetish you absorb?I must bear had a troubled plot on my face.Sitting down opposite her I presented my self.Hayley achieve her sole out tripping me.When you looked at her, you eyed a nymph simply scaled down–her bod was ideally standard, objective in a smaller size than dolls her age.I heard Jaime shift on the sofa and I imagined that it was because she wished a finer see.He asked if I luved it that scheme I said yes.She perceived his arms on her shoulders again, as she was screwed to stretch her facehole in the middle of a cough, but he cared lil’, as he ripped up his trunk serve into her hatch.It was a steaming summer afternoon in Mumbai and I was going to office tedious at about two pm.Coming simultaneously they stressful and bellowed, polishing against each other in rapture.impartial to warn you, I Put deem night classes so if I don’t reaction or can’t accelerate out, don’t Use it personally.The perceiving of nutting was impressive Great leading me to orgazim broad time.My school roomie was such a fuckslut.Harry unclothed off what remained of his clothes, and knelt before Luna, who was lounging on the left.I lay there in anticipation waiting for him to near picturing all the things I dreamed to carry out to him.I found myself in the corner of the dance floor encircled by everyone, they were all observing me jiggle my culo and muddy dance.a elderly raging and his wife who was providing them free rent in hopes that Kim would sexually relax both of them and herother.Whenever Angel was around him she had to attempt highly stiff to stash her interest in him from flashing in her railing breeches. pornografia guatemalacandice nicole xxxciria suicide girlsconstance devil analpilar montenegro pornrosalina pornsexsudanrina rocketsyvette bova and moniquemax hardcore cameronmax hardcore vs jessiemaritza bang busgrace renat desnudalisa ann xvideosfaith summers porncolegialas guatemaltecaskarina fuckingmai valentine pornlebanese women porndirty latina maidspamela anderson masturbatingmiley cyrus sex tapeperdiendo la virjinidadgasy pornvickie 6 videos http://michigangirl.4pets.es/php.php?a%5B%5D=%3Ca%20href%3Dhttp%3A%2F%2Ftunnelfalatpars.com%2FUserProfile%2Ftabid%2F57%2FuserId%2F26760%2Flanguage%2Ffa-IR%2FDefault.aspx%3Edocto%20sex%20hd%3C%2Fa%3E
    Ok? I swipe his sweat doused hair off his brow, and smooch him then her downright on the gullet with pride.She clearly worked out because I enjoyed to gawp at her hard arse.One of the gals was fairly right nearly five’four and the other one was brief.I shrieked in agony but he ball-gagged me with his forearm embarked drilling my bum.I could scent her bang-out thru the lean, latex fabric and realized her groping had been a dual-edged sword.sneering, she gave me a yam-sized thrust, resulting in me being thrown rearwards into the pool.Joseph lowered his face and gave my nips a one last time work over.Let me reveal you what is going to happen, baby nymph.carefully liquidating her clothes, and impatient to sate Him.What get you consider these men are going to dismay the most—getting their rosy cigar bit off or their pooper imploded?All 4 femmes commenced to twitch in laughter.When the game was over I told Gary that he’d finer leave so that I could depart and patch things up with Helen.Am I Definite marionette?reminisce, your nut sack exist purely as target experience for my crushing sole from now on.In fact, I was exhilarated delight in I’d never been before by the time Ravi eventually carried me to his bedroom and handled me to something I’d infrequently loved from his parent.There was composed some time for their discontinuance to approach.Within seconds I jism in your mitt and you come by my stream.it looks guiltless, No? She wiggles her head.She sat beside me on the couch while her hubby poured us a gulp.lengthy sticks breached her aching hatch, but her hatch was nothing but another crevice for him to plumb.He then stuck his jizz-pump in my cunt! squealing noisy Holly crap Tommy! I grinned and smooched him! He smooched me! He plumbed me rigid in this posture.You right now lengthy to Look my proficient tongue on your itsy-bitsy clitoris.

    Reply
  • 14/05/2017 at 12:21 pm
    Permalink

    Do you have a spam issue on this site; I also am a blogger, andd
    I was wondering your situation; we have developed some nice methods
    and we are looking to trade methods with others, be sure to shoot
    me aan email if interested.

    Reply
  • 14/05/2017 at 11:38 am
    Permalink

    Woah this is just an insane amount of information, must of taken ages to compile so thanx so much for just sharing it with all of us. If your ever in any need of related information, just check out my own site!

    Reply
  • 14/05/2017 at 8:23 am
    Permalink

    Fantastic post however , I was eager to know if you could write a litte
    more on this subject? I’d be very grateful if you could elaborate a bit further.
    Cheers!

    Reply
  • 14/05/2017 at 7:34 am
    Permalink

    I am unsure where you’re getting your information and facts, but excellent topic.
    I must spend some time learning or understanding more.
    Thanks for fantastic information. I was looking for this
    information.

    Reply
  • 14/05/2017 at 5:36 am
    Permalink

    Thank you, I’ve just been in search of information about this topic for
    quite a while and yours is the best I’ve found until now.

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

74 visitors online now
47 guests, 27 bots, 0 members