डायनैमिक और डाइनामाइट : एक आत्मकथा

 

धर्म, धार्मिक, धर्मांध और अंधविश्वास

इंदिरापुरम, 30 अप्रैल 2016

महाकाल की नगरी उज्जैन से कल एक खबर आई कि इस वर्ष सिंहस्थ कुम्भ में श्रद्धालुओं का आगम कम है , इस कमी का कारण कुछ अखाडों के साधुओं ने यह बताया है कि इस साल के सिंहस्थ कुम्भ को किसी की नज़र लग गई है, इसीलिए वे लोग उस नज़र को उतारने के लिए टोटके कर रहे हैं जिसे वे तंत्र साधना कह रहे हैं। जिस तरह अनपढ व अन्धविश्वासी महिलाएं व पुरूष अपने बच्चे के ज्यादा रोने या तकलिफ में होने पर उसकी नज़र उतारने के लिए बच्चे के सिर के ऊपर से लाल मिर्च और सरसों निछावर कर आग में जला देते हैं तथा उसका धुआं बच्चे को सुंघाते हैं, भले ही बच्चे का दम घुट जाए, साथ ही, बच्चे के माथे और गाल पर काला टीका भी लगा देते हैं, उसी प्रकार किसी का नया घर बन रहा होता है तो बुरी नज़र से उसे बचाने के लिए वहां बांस में एक हांडी टांग देते हैं, उस हांडी पर कालिख पोत देते हैं , उस पर चुने का टीका भी लगा देते हैं, दरवाजे पर नीम्बू और प्याज भी टांग देते हैं, अमूमन तो लोग बुरी नज़र वालों का पुतला बना कर उसका मुंह काला कर उसे भी बांस में टांग देते हैं; और ऐसा कर वे समझते हैं कि उनके बच्चे के ऊपर से बुरी नज़र उतर जाएगी तथा बुरी आत्मा का साया उनके निर्माणाधीन घर से दूर हो जाएगा , उनका घर बुरी नज़र वालों से महफूज रह कर निर्विघ्न रूप से बन सकेगा ; शायद वैसे ही उज्जैन में अखाडों के साधुओं ने लाल मिर्ची, पीले सरसों, सरसों के तेल आदि श्मशान की आग में जला कर धुआं करते हुए कुम्भ की नज़र उतार रहे हैं। इस मूल विषय पर हम चर्चा करेंगे किंतु पहले जिस धर्म के नाम पर यह सब किया जा रहा है, उस धर्म के बारे में तो जान लें।

मेरा निवेदन है कि धर्म की विश्व में प्रचलित और रूढ मान्यताओं के खोल से कुछ देर के लिए खुद को बाहर निकाल कर उस शब्द व उसके अर्थ की यात्रा कर लें और फिर लौट जाएं अपनी – अपनी खोल – खोली में, उस पर मुझे कोई आपत्ति न है , न होगी , न हो सकती है। ठीक वैसे ही बिना किसी खोल या खोली के खुले आकाश में मेरे रहने पर भी किसी को कोई आपत्ति नहीं होनी चाहिए। दूसरों को उनकी अपनी मान्यताओं में निर्भीक हो कर जीने के लिए जितनी व जैसी स्वतंत्रता चाहिए, मुझे भी अपनी मान्यताओं में निर्द्वंद्व जीने के लिए उतनी ही और वैसी ही आज़ादी चाहिए। तो आएं, इसी सोच के साथ हम पहले शब्द और अर्थ की यात्रा करें।

विद्वान लोग धर्म को ‘ धारयति इति धर्म:’ कहते हैं यानी जो धारण करे वह धर्म है, अर्थात धर्म का सीधा – सा आशय स्वीकार से है, नकार से नहीं, किसी को अंगीकार करने से है, किसी का बहिष्कार करने से नहीं , धर्म का स्वरूप समावेशी और सकारात्मक है, अलगाववादी या नकारात्मक नहीं। वस्तुत: धर्म एक स्वाभाविक गुण है, संवेदना व संवेदनशीलता है, नीति, नियम और कानून सम्मत जीवन पद्धति है, एक प्रवृत्ति है। ईश्वर और देवी – देवताओं को मानने या न मानने से यानी आस्तिक अथवा नास्तिक होने से धर्म का कुछ भी लेना – देना नहीं हैं, क्योंकि ईश्वर एक अज्ञात सत्ता है जबकि धर्म हमारे खुद के द्वारा निर्मित आचार – व्यवहार – संहिता है। इसलिए धर्म मनुष्य से ऊपर नहीं हो सकता, वह इतना महत्वपूर्ण भी नहीं हो सकता  कि उसके लिए  कुछ भी कर गुजरा जाए। परंतु इसके विपरीत धर्म को ही ईश्वर का आधार बना दिया गया , वहीं से धार्मिक संघर्ष के नाम पर सामाजिक विद्वेष की शुरुआत हुई। हजारों साल के धार्मिक, सांस्कृतिक, सामाजिक और राजनीतिक इतिहास उस विद्वेष व विध्वंस के साक्षी हैं।

ईसाईयत में कोई प्रत्यक्ष प्रभु नहीं है, प्रभु – पुत्र है। इस्लाम में भी सामने कोई अल्लाह या खुदा नहीं है, पैगम्बर हैं, नबी हैं, फकीर हैं , नेक बन्दे हैं। अरबी में एक शब्द है ‘मज़हब’ जिसका अर्थ हम निकाल लेते हैं धर्म किंतु वास्तव में वह मूल रूप से धर्म को ध्वनित नहीं करता बल्कि उसका अर्थ है – धार्मिक सम्प्रदाय, पंथ, मत  ; यानी धर्म आधारित सम्प्रदाय या पंथ अथवा मत को मज़हब कहते हैं तो आखिर वह मूल धर्म कौन – सा है जिस के आधार पर ये सम्प्रदाय या पंथ अथवा मत हैं।  पारसियों में भी कोई प्रत्यक्ष परमेश्वर नहीं है, दूसरे धर्मों में भी जिन हैं, बुद्धत्व है आदि – आदि। केवल हिन्दू धर्म में ही ईश्वर साक्षात रूप में अवतरित होता है और कहता है –“ सब कुछ मैं ही हूं, मैं ही आत्मा , मैं ही परमात्मा, मैं ही कर्ता, मैं ही कर्म व धर्म हूं, सभी कार्यों का कारण और कारक भी मैं ही हूं” ।

प्रश्न स्वाभाविक है कि जब वे मथुरा वृन्दावन या अयोध्या में थे तो क्या दुनिया का बाकी हिस्सा ईश्वरविहीन हो गया था या उन सबका अलग – अलग ईश्वर था? क्या इस ईश्वर में और बाकियों के ईश्वर में तुलनात्मक अध्ययन हो सकता है ? क्या उनमें से कोई अधिक या कोई कम ताकतवर है ? या यदि कोई खुद को बहुत बडा समन्वयवादी घोषित करते हुए ईश्वर रूपी मंजिल को एक तथा धर्म रूपी रास्तों को अलग – अलग बताता है तो फिर ये रास्ते किसने बनाये, उस ईश्वर ने या हमने , और यदि हमने बनाये तो क्या हमारा बनाया हुआ कोई भी रास्ता इतना महान हो सकता है जो उस मंजिल से भी बडा और महान हो , यदि नहीं तो ये मारकाट क्यों? कहीं ऐसा तो नहीं कि भिन्न – भिन्न जलवायु में हम उत्पन्न हुए जिसके चलते हममें स्वाभाविक रूप से विभिन्नता आ गई और उसी के चलते हमारी भाषा, हमारा आचरण , रहन – सहन, खानपान , लोभ – लालच, भय, कायदे – कानून स्वत: भिन्न होते चले गए और हमने ही अपनी जरूरतों और जानकारी के अनुसार अपने रास्तों की तरह अपनी मंजिल भी खुद ही बना ली हो ? क्या पता ? किसे पता ?

अजब मुसीबत है ! कोई आसमानी किताब है तो कोई ईश्वरीय पुस्तक है ! इसीलिए उनकी उत्पत्ति, उनके अस्तीत्व या उनमें वर्णित कथ्य अथवा तथ्य पर कोई सवाल नहीं उठाया जा सकता । तो क्या उस सर्वशक्तिमान ईश्वर ने अपने ही अस्तीत्व आदि पर सवाल उठाने वाले इंसान को पैदा कर कोई बहुत बडी ग़लती कर दी ? यदि ग़लती उसने की तो उस ग़लती का खामियाजा कोई और क्यों भुगते ? वह खुद ही क्यों न  भुगते, ईश निन्दा का दोष किसी और पर क्यों ? काफिर होने का गुनाह किसी और के मत्थे क्यों ? और क्या किसी के द्वारा निन्दा किए जाने से ईश की निन्दा हो जाती है ? क्या कोई आसमान में कीचड उछाल दे तो आसमान धूमिल हो जाता है या उछालने वाले के ही सिर वह कीचड आ गिरता है ? तो फिर ईश निन्दा (हालांकि जानकरी के लिए कोई सवाल उठाना ईश निन्दा नहीं है, फिर भी, यदि किसी कोने से वह किसी को लग भी जाए तो) से किसी को जबरिया रोकने का ठेका क्या उस ईश ने किसी को दिया है ? ऐसा कैसे हो सकता है कि अपने एक बन्दे को वह सवाल उठाने का सलीका सिखाए और दूसरे बन्दे को उसे जबरिया रोकने का टेण्डर भी जारी कर दे ? इसका मतलब साफ है कि ईश्वर के नाम पर या देवी – देवता के नाम पर अथवा धर्म के नाम पर विवाद बेमानी ही नहीं , कुफ्र है। दूसरे को हानि पहुंचाए वगैर अपनी बात रखने का सबको हक है, तो फिर किसी की मान्यता से क्षुब्ध हो कर कोई लट्ठ ले कर उसके पीछे क्यों पडेगा ? आकबत खराब होती है तो उसकी अपनी , किसी और की आकबत तो वह खराब करने नहीं जाता , वह तो किसी के पीछे लट्ठ लेकर नहीं पड जाता कि उसी की बात मानो वरना वह अपनी आस्था को ठेस पहुंचाने का अपराध दूसरे के मत्थे मढ देगा । क्या इसके लिए नीति या नियम अथवा कानून बनाने वाले लोग एक – दूसरे के तुष्टीकरण के लिए वैसा नहीं करते ?

दरअसल, पहले हमने धर्म बनाया , फिर हम धार्मिक हो गए, उसके बाद फिर धर्मांध होते गए और अब अंधविश्वास में जी रहे हैं। धर्म से अंधविश्वास की यात्रा में कौन – सी सीमा रेखा कहां समाप्त होती है और कहां से कौन शुरू हो जाता है, इसका निर्धारण कौन और कैसे करेगा? ऐसी हालत में इन सबको एक ही चौसर के विभिन्न कोण क्यों न मान लिया जाए ? इसी क्रम में उज्जैन में सिंहस्थ कुम्भ में महाकाल के प्रति श्रद्धालुओं में आई कमी और उस कमी को दूर करने के लिए किए गए उपायों को देखा जा सकता है। अक्खाडों के साधुओं ने स्पष्ट रूप से घोषणा की कि इस वर्ष कुम्भ में श्रद्धालु कम संख्या में आए यानी महाकाल के प्रति लोगों में श्रद्धा घट गई है या यों कह लीजिए कि महाकाल और कुम्भ का आकर्षण कम हो गया है क्योंकि उन्हें किसी की नज़र लग गई है, इसीलिए उस बुरी नज़र के दुष्प्रभाव को दूर करने के लिए महाकाल और कुम्भ की नज़र उतारी जा रही है ।

कमाल है, जो सारी दुनिया का कल्याण करता है, जिसके त्रिनेत्र की भृकुटि तन जाने मात्र से स्वयं काल भी कांप जाता है , उस महाकाल को इतना नि:शक्त समझा जा रहा है और उसकी अलौकिक क्षमता को इतना क्षीण समझा जा रहा है कि उसका आकर्षण बढाने के लिए, उसे शक्तिसम्पन्न बनाने के लिए, किसी की बुरी नज़र से उसे बचाने के लिए उसके भक्तों द्वारा उसकी नज़र उतारी जा रही है ! कैसा वितंडावाद है यह ! क्या ये तथाकथित भक्त स्वयं महाकाल को अविश्वास की नज़र से नहीं देख रहे ? ये महाकाल का अवमूल्यन नहीं कर रहे ?  यदि वैसा न होता तो वे ऐसा क्यों करते ? साधु संत कुछ तो समझदारी दिखाएं और वैसे अंधविश्वासी कर्मकांडियों के विपरीत महाकाल शिव की महिमा को प्रमाणित करें ।

इसीलिए , अब हम घोषणा करते हैं कि जिसका महाकाल कमजोर , नि:शक्त व नि:तेज हो, वह भले ही करे ये सब, हमारे महाकाल को किसी के द्वारा नज़र उतारे जाने या शक्तिवर्द्धक तंत्रसाधना अथवा आकर्षण वृद्धि के लिए किसी श्मशान में जलते शव की लौ की जरूरत नहीं है, क्योंकि मेरा महाकाल महान है , ठीक वैसे ही जैसे मेरा भारत महान था, महान है और महान रहेगा ! और आपका ?

‘अमन’ श्रीलाल प्रसाद

9310249821

इंदिरापुरम, 30 अप्रैल 2016

2,991 thoughts on “डायनैमिक और डाइनामाइट : एक आत्मकथा

  • 17/02/2018 at 5:25 pm
    Permalink

    After a brought the first [url=http://www.curry-shoes.com]curry shoes[/url] baseball, a garage at the particular match: each other presented a perfect diamond front, teammate Steve Blake flew to visit up, left the clippers protect darren collison (microblogging) the gap between two steps behind their closely, Danny granger may be the only defender in tow line. This is the storage superior court intuition and which embodies: his shot variety. He seems to understand the defensive player in the ideas, can predict their particular next move, then strike in advance. “When other people are usually doing gesture, garage throughout judgment, and the game, this is Stephen is the best place, in this respect the particular league may be second to none. Find field space, know the place that the defense space will take place, it is the key of the art of his pictures. Because no matter how good your shots, more exquisite technology, no bedroom is useless. “ESPN’s Mark thorpe, once wrote in his article.

    Garage cautiously [url=http://www.stephencurryshoes.us]stephen curry shoes[/url] observing the defense, he likewise have reason to be consequently cautious. Before this, the warriors have missed 12 goals in 13 shots in past times, is now 33 for you to 37 behind the clippers, disturbed through the right leg muscle stress of garage after only one of 4. For storage area himself, this ball is important: before a season, he hit a list in NBA history together with 272 grains of 3 points, if again established three points today, his three points this season hit number will meet or exceed 200 mark. So that library will become the sixth in a row has at least two season hit 2 hundred grains of three players, at the same time period, still can have several points to continuous hit game streak still 54 games – it will be the warriors team background record.

    “I like everything [url=http://www.kdshoes.us.com]kevin durant shoes[/url] associated with the shooting, ” garage once said in a interview, “but with the highest especially in perfect hands posture. When your person is in good rhythm, from standing in the feet on a lawn, his hands to complete a go, all series of joint actions is going to be calm and smooth, just like waves. It’s a fantastic feeling. “.

    Tag: [url=http://www.kyrieirvingshoes.us.com]kyrie irving shoes[/url] [url=http://www.yeezyshoes.us.com]yeezy shoes[/url] [url=http://www.adidassuperstar.us.org]adidas superstar Shoes[/url] [url=http://www.drose8.com]d rose 8[/url] [url=http://www.adidasiniki.us.com]adidas iniki[/url] [url=http://www.adidasyeezyboost350v2zebra.com]adidas yeezy boost 350 v2 zebra[/url] [url=http://www.adidasterrex.us]adidas terrex[/url] [url=http://www.lebron-14.us]lebron 14 shoes[/url] [url=http://www.neweracaps.us.com]new era caps[/url] [url=http://www.adidaseqt.us.com]adidas eqt[/url] [url=http://www.kyrieirvingbasketballshoes.com]kyrie irving basketball shoes[/url] [url=http://www.lebron15ashes.com]lebron 15 ashes[/url] [url=http://www.adidastubular.us]adidas tubular[/url] [url=http://www.michaeljordanshoes.us]michael jordan shoes[/url] [url=http://www.asicsshoes.us.com]asics shoes[/url] [url=http://www.pumasuede.us.com]puma suede[/url] [url=http://www.kyrie-3.com]kyrie 3[/url] [url=http://www.barbourjackets.us.com]barbour jackets[/url] [url=http://www.kobebryantjersey.us]kobe bryant jersey[/url] [url=http://www.ecco.us.com]ecco Shoes[/url] [url=http://www.adidascrazyexplosive.us.com]adidas crazy explosive[/url] [url=http://www.calvinklein.us.com]calvin klein[/url] [url=http://www.asicsgelkayano.com]asics gel kayano[/url] [url=http://www.curryshoes.us]stephen curry shoes[/url] [url=http://www.kyrie-4.org]nike kyrie 4[/url] [url=http://www.curry-1.com]curry 1[/url] [url=http://www.airjordan32.us]air jordan 32[/url] [url=http://www.vansshoes.us.com]vans shoes[/url] [url=http://www.bapehoodie.com]bape hoodie[/url] [url=http://www.canadagooseus.com]canada goose[/url] [url=http://www.kyrie4.us.com]kyrie 4[/url] [url=http://www.nikehuarache.org]nike huarache[/url] [url=http://www.nikefree.us.com]nike free[/url] [url=http://www.adidasalphabounce.com]adidas alphabounce[/url] [url=http://www.adidasnmdr1primeknit.com]adidas nmd r1 primeknit[/url] [url=http://www.ultraboostadidas.us.com]adidas ultra boost uncaged[/url]

    Reply
  • 11/02/2018 at 3:21 pm
    Permalink

    I completely love your blog and find lots of your post’s to be exactly what I’m searching for.

    Reply
  • 11/02/2018 at 8:02 am
    Permalink

    I think this is one of the most important info
    for me. And i’m satisfied reading your post. The website looks nice, the articles
    are excellent.

    Reply
  • 11/02/2018 at 7:57 am
    Permalink

    You’re so great! I dont suppose Ive read anything like
    this before. So nice to find a person with some original thoughts on this subject.
    truly thank you for starting this up. this website is
    one thing that’s wanted online, somebody with some originality.
    useful job for bringing something new to the internet!

    Reply
  • 11/02/2018 at 5:38 am
    Permalink

    I am truly impressed with your writing talent.
    Anyway keep up the superb high quality writing, it’s rare to see a great blog
    like this these days.

    Reply
  • 11/02/2018 at 5:36 am
    Permalink

    I am only commenting to inform you of the remarkable experience our girl encountered reading the blog.
    She noticed many pieces, which included how it is like to possess an amazing giving nature to get certain individuals really easily learn certain multifaceted things.
    You undoubtedly exceeded visitors’ desires.
    I appreciate you for rendering the important, healthy, educational as well as easy suggestions about the topic.

    Reply
  • 10/02/2018 at 10:02 am
    Permalink

    My brother recommended I might like this blog.
    He used to be totally right. This submit truly made my day.
    You can not believe just how a lot time I had spent for this info!
    Thanks!

    Reply
  • 02/02/2018 at 6:56 am
    Permalink

    Knight’s method clearly, today is in order to cling to garage, will not give him any opportunity, and Kevin durant is always one on one with defense. But garage or under heavy defensive search for opportunities, such as deal with [url=http://www.stephencurryshoes.us]stephen curry shoes[/url] low, he mobilized, operate the other fear his border ability garage easily have scored two points.

    The last 80 seconds inside first half, durant have missed shots from outside, this basket three players usually are knights, including Thompson, lebron, because of this, the Treasury rushed in the basket from the extended position, unexpectedly the offensive rebounds inside knight encirclement! Then this individual points ball durant, who finished scores!

    And the other half, knight to defensive strategy is shaken, they don’t have an excessive amount double again, help, perhaps surprisingly, JR in 1 about 1 against Arsenal, and directly put the particular garage was pushed towards the ground.

    Sure enough, the particular knight defensive shaken [url=http://www.curry-shoes.com]curry shoes[/url] soon after scoring started rising with his Arsenal, outside his / her 3-pointer by continuous, at that time he was given the means to just like Kevin durant got chance from the first half. After three points inside the database is still hit, he this section one bomb beneath the 14 points.

    Today can be June 1, the time [url=http://www.kdshoes.us.com]kevin durant shoes[/url] is the international children’s day, it seems in the “primary school” is amongst the holiday today.

    Small garage finish I rested the vast majority of holiday to battle, they are still the contribution for the brilliant stroke, but also pass a 3-pointer by simply Kevin durant. The final 3 minutes, garage off in front of schedule, because the sport had no suspense.

    Tag: [url=http://www.kyrieirvingshoes.us.com]kyrie irving shoes[/url] [url=http://www.canadagooseus.com]canada goose[/url] [url=http://www.adidastennishu.com]adidas tennis hu pharrell[/url] [url=http://www.adidaspureboost.us.com]adidas pure boost[/url] [url=http://www.nikeairpresto.us.com]nike air presto[/url] [url=http://www.kyrie4confetti.us]kyrie 4 confetti[/url] [url=http://www.curry2.com]curry 2[/url] [url=http://www.hyperdunk-2017.com]hyperdunk 2017[/url] [url=http://www.kobebryantjersey.us]kobe bryant jersey[/url] [url=http://www.adidasyeezywaverunner700.com]adidas yeezy wave runner 700[/url] [url=http://www.kevindurantjersey.us.com]kevin durant jersey[/url] [url=http://www.kyrie-3.com]kyrie 3[/url] [url=http://www.kyrieirvingbasketballshoes.com]kyrie irving shoes[/url] [url=http://www.giannisantetokounmpojersey.com]giannis jersey[/url] [url=http://www.nikesbdunk.us]nike sb dunk[/url] [url=http://www.vanssk8hi.us]vans sk8 hi[/url] [url=http://www.bapehoodie.com]bape hoodie[/url] [url=http://www.adidassuperstar.us.org]adidas superstar[/url] [url=http://www.kyrie-4.org]nike kyrie 4[/url] [url=http://www.jordanretro.us.com]jordan retro[/url] [url=http://www.kobe–shoes.com]kobe shoes[/url] [url=http://www.mizunoshoes.us.com]mizuno shoes[/url] [url=http://www.kd-10.com]kd 10[/url] [url=http://www.ugg5803.com]ugg 5803[/url] [url=http://www.kyrie-4.com]kyrie 4[/url] [url=http://www.curry-3.com]curry 3[/url] [url=http://www.curry-4.com]curry 4[/url] [url=http://www.nikehuarache.org]nike huarache[/url] [url=http://www.bensimmonsjersey.us]ben simmons jersey[/url] [url=http://www.nikelebronjamesshoes.us.com]Nike Lebron James Shoes[/url] [url=http://www.pumafentyslides.uspuma fenty slides[/url] [url=http://www.curryshoes.us]stephen curry shoes[/url] [url=http://www.kd-shoes.org]kd shoes[/url] [url=http://www.airjordan-31.com]air jordan 31[/url] [url=http://www.adidasnmdshoes.us.com]adidas nmd[/url] [url=http://www.pumafenty.us]puma fenty[/url]

    Reply
  • 02/02/2018 at 6:29 am
    Permalink

    Throw three points seriously isn’t the whole garage everyday work, and don’t overlook, Stephen curry is this team in assists as well as steals, he averaged 6. 7 assists inside the regular season, 14 within the league and the playoffs [url=http://www.stephencurryshoes.us]stephen curry shoes[/url] can be averaging 9. 3 assists because the league the first! Let’s imagine a photo, 40 minutes per game in the Treasury, attack launched many times, there are always a number of ball he wasn’t from the outside, but the soccer ball inside, attracted a twice… What will happen then? There was a man he can tell you the solution, [url=http://www.curry-shoes.com]curry shoes[/url] he called clay – Thompson, from the fantastic state warriors, he made this season 211 3-pointers, finished third in the league, and that 211 3-pointers, 68 hails from the assists of Stephen curry.

    12-13 period to contrast the shed and ray Allen within ’05 -‘ 06 — Allen into 269 3-pointers, and they are the Seattle supersonics. That year, Allen’s 269 of 653 three-point shots, shot 41. 2%, as Stephen – 272 of 600 photographs in his Arsenal, as high as 45. 3%; That 12 months, Alan ball attack create 3 ratio is under a quarter, compared using 38. 6% in database; That year, Allen’s assists the amount 3. 7, less compared to Treasury for three allows. So the outline, the image of an alternative 3-pointers hand lower the garage outline: he not simply completed the sharpshooter track record, his teammates for the creation of free-throw possibilities into; He will also look for opportunities as well, through the ball cutting-edge, stopped for no allows 3-pointer of shots. Furthermore, he also can cross assists, “create” another pitcher – clay – Thompson! Not only can catch vote, may also urgent stopped, can generate more opportunities to other folks, this star, unique! Now i’m [url=http://www.kdshoes.us.com]kevin durant shoes[/url] afraid, just use “striker” two words are already unable to define Stephen curry, must also be in with some sort of “great” rhetoric.

    Tag: [url=http://www.kyrieirvingshoes.us.com]kyrie irving shoes[/url] [url=http://www.adidashardenvol2.com]adidas harden[/url] [url=http://www.adidastennishu.com]adidas tennis hu pharrell[/url] [url=http://www.asicsgelkayano23.com]asics gel kayano 23[/url] [url=http://www.kd-10.com]kd 10[/url] [url=http://www.pumasuede.us.com]puma suede[/url] [url=http://www.lebronjamesshoes.com.co]lebron shoes[/url] [url=http://www.wholesalehats.us]wholesale hats[/url] [url=http://www.bapehoodie.com]bape hoodie[/url] [url=http://www.nikeairmax97.us.com]nike air max 97[/url] [url=http://www.pumafenty.us]puma fenty[/url] [url=http://www.nmdr1.us]nmd r1[/url] [url=http://www.michaeljordanshoes.us]michael jordan shoes[/url] [url=http://www.airmax90.us]air max 90[/url] [url=http://www.lebronsoldier11.us.com]Lebron soldier 11[/url] [url=http://www.curryshoes.us]curry shoes[/url] [url=http://www.mizunoshoes.us.com]mizuno shoes[/url] [url=http://www.hand-spinner.us]hand spinner[/url] [url=http://www.stephencurry.us.com]stephen curry shoes[/url] [url=http://www.kyrieirvingshoes.us.com]kyrie shoes[/url] [url=http://www.adidasnmdr1primeknit.com]adidas nmd r1 primeknit[/url] [url=http://www.airjordan32.us]jordan 32[/url] [url=http://www.ecco.us.com]ecco[/url] [url=http://www.neweracaps.us.com]new era caps[/url] [url=http://www.kyrie4confetti.us]kyrie 4 confetti[/url] [url=http://www.stephencurry-shoes.com]stephen curry shoes[/url] [url=http://www.nikezoomvaporflyelite.us]nike zoom vaporfly elite[/url] [url=http://www.adidasnmdxr1.us]adidas nmd xr1[/url] [url=http://www.uggclassicboots.com]ugg classic boots[/url] [url=http://www.nikeairpresto.us.com]nike air presto[/url] [url=http://www.nikevapormaxshoes.us.com]nike air vapormax[/url] [url=http://www.pumarihannacreepers.us]puma rihanna creepers camo[/url] [url=http://www.asicsgelkayano24.com]asics gel kayano 24[/url] [url=http://www.calvinklein-underwear.us.com]calvin klein[/url] [url=http://www.adidascrazyexplosive.us.com]adidas crazy explosive[/url] [url=http://www.asicsshoes.us.com]asics shoes[/url]

    Reply
  • 31/01/2018 at 10:43 am
    Permalink

    You have some helpful ideas! Maybe I should consider doing this by myself.

    Reply
  • 26/01/2018 at 6:35 am
    Permalink

    Far more happily, the warriors usually are not affected by the two people were missing, all the particular eight games. And this morning, without a Curry warriors acquainted with a 111-104, rick pioneers Durant scored 11 connected with 21 shots had 31 points, nine rebounds in addition to five assists.
    After upload their data, the site also remember the feeling: “it’s certainly not fair……. ” a team is a super star is very lucky, even there are many giant fusion is really a problem, but no result, the two people are in a dozen each other sacrifice, the remaining one, they can also control you the game.

    Tag: [url=http://www.nikelebronjamesshoes.us.com]Lebron James Shoes[/url] [url=http://www.kyrie4.us.com]kyrie 4[/url] [url=http://www.kyrieirvingshoes.us.com]kyrie irving shoes[/url] [url=http://www.curry2.com]curry 2[/url] [url=http://www.curry4footlocker.com]curry 4 footlocker[/url] [url=http://www.calvinklein-underwear.us.com]calvin klein[/url] [url=http://www.kyrie-3.com]kyrie 3[/url] [url=http://www.kyrie3shoes.com]kyrie 3 shoes[/url] [url=http://www.curry-4.com]curry 4[/url] [url=http://www.kyrie4confetti.us]kyrie 4 confetti[/url] [url=http://www.kyrie-4.org]kyrie 4[/url] [url=http://www.nikekyrie4.us.com]nike kyrie 4[/url]

    Reply
  • 07/01/2018 at 11:08 am
    Permalink

    Great post. Just a heads up – I am running Ubuntu with the beta of Firefox and the navigation of your blog is kind of broken for me.

    Reply
  • 05/01/2018 at 2:43 am
    Permalink

    If most people wrote about this subject with the eloquence that you just did, I’m sure people would do much more than just read, they act. Great stuff here. Please keep it up.

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

46 visitors online now
25 guests, 21 bots, 0 members