डायनैमिक और डाइनामाइट : एक आत्मकथा

बैंकों का राष्ट्रीयकरण एवं एकीकरण, क्या एक – दूसरे के विपरीत हैं और क्या विलय व एकीकरण निजीकरण की पहल है?

*********

बैंक राष्ट्रीयकरण दिवस पर विशेष ( SPECIAL POST ON BANK NATIONALIZATION DAY : 19 JULY)

***

बैंक राष्ट्रीयकरण दिवस प्रत्येक वर्ष 19 जुलाई को मनाया जाता है, इस उपलक्ष्य में देशवासियों को अग्रिम हार्दिक शुभकामनाएं और बधाइयां । 19 जुलाई 1969 को 14 बडे कॉमर्शियल बैंकों का राष्ट्रीयकरण हुआ था; उसकी 47वीं वर्षगांठ से ठीक 7 दिनों पहले यानी 12 जुलाई 2016 से बैंकों में दो दिवसीय हडताल करने की घोषणा बैंक अधिकारियों एवं कर्मचारियों के कुछ संगठनों ने की थी। भारतीय स्टेट बैंक और उसमें विलय के लिए प्रस्तावित उसके सहायक बैंकों की याचिका पर सुनवाई करते हुए माननीय दिल्ली हाई कोर्ट ने बैंकों में प्रस्तावित उस हडताल पर रोक लगा दी, फलस्वरूप बैंककर्मियों के संगठनों ने भी हडताल वापसी की घोषणा कर दी और तदनुसार वह हडताल नहीं हो सकी। उस हडताल का प्रमुख उद्देश्य था – भारतीय स्टेट बैंक में उसके सहायक बैंकों सहित भारतीय महिला बैंक के प्रस्तावित विलय (इसके लिए केन्द्रीय मंत्रीमंडल ने 15 जून 2016  की बैठक में निर्णय ले लिया था) एवं राष्ट्रीयकृत बैंकों के संभावित एकीकरण का विरोध करना।

अपने 24 जून के पोस्ट में मैंने भारतीय स्टेट बैंक में उसके सहायक बैंकों और भारतीय महिला बैंक के विलय की चर्चा करते हुए आज़ादी के बाद कॉमर्शियल बैंकों को सार्वजनिक क्षेत्र में लाने के उद्देश्यों तथा उसकी प्रक्रिया का स्थूल विवेचन किया था। अब बैंकों में घोषित उस हडताल की वापसी के सन्दर्भ में उन उद्देश्यों और प्रक्रियाओं की सूक्ष्म विवेचना आवश्यक प्रतीत हो रही है ताकि आम जनता तक उसके हानि – लाभ की सच्चाई पहुंचाई जा सके। इसीलिए उस गूढ विषय की चर्चा में गूढ और पारिभाषिक शब्दावलियों तथा तकनीकी पक्षों की उलझनभरी बाजीगरी का सहारा न ले कर यहां सरल व सहज तरीके से सीधे – सादे शब्दों में बात रखने की कोशिश की जाएगी। तो आइए, कुछ खास बिन्दुओं के माध्यम से इस मामले को समझा जाए : जैसे – राष्ट्रीयकरण के पहले बैंकिंग यानी शुद्ध लाभकारी बैंकिंग,  राष्ट्रीयकरण के बाद बैंकिंग यानी शुद्ध कल्याणकारी बैंकिंग, राष्ट्रीयकरण का परिणाम यानी जमाकर्ताओं की जमापूंजी की सुरक्षा के साथ – साथ बैंककर्मियों में सेवा सुरक्षा का प्रबल भाव , राष्ट्रीयकरण के उद्देश्यों की पूर्ति यानी बैंक शाखाओं का विस्तार और बैंक ऋण तक गरीब – गुरबों की भी पहुंच , भविष्य में बैंकिंग तथा बैंकिंग का भविष्य यानी एक ही साथ कल्याणकारी एवं लाभकारी बैंकिंग।  

        

19 जुलाई 1969 को निजी क्षेत्र में कार्यरत उन सभी कॉमर्शियल बैंकों का राष्ट्रीयकरण कर दिया गया जिनमें कुल जमा राशि 50 करोड रूपये से अधिक थी। उस समय देश में कार्यरत सैकडों बैंकों में से वैसे केवल 14 बैंक ही पाए गए जो निर्धारित शर्तों को पूरा कर रहे थे, अत: उन सभी 14 बैंकों का राष्ट्रीयकरण कर दिया गया। 15 अप्रैल 1980 को एक बार फिर निजी क्षेत्र में कार्यरत बडे कॉमर्शियल बैंकों का राष्ट्रीयकरण किया गया, इस बार उन सभी निजी क्षेत्र के कॉमर्शियल बैंकों का राष्ट्रीयकरण किया गया जिनमें कुल जमा राशि 200 करोड रूपये से अधिक थी। उस समय वैसे 6 बैंक ही पाए गए, अत: उन सभी 6 बैंकों का राष्ट्रीयकरण कर दिया गया यानी 1969 में जिन बैंकों की कुल जमा राशि 50 करोड रूपये भी नहीं थी , जिसके चलते उस वक्त राष्ट्रीयकरण के दायरे में वे नहीं आ सके थे, 11 साल बाद 1980 में उन्हीं बैंकों की जमा राशि 200 करोड रूपये से भी अधिक हो गई। आज तो बैंकों की किसी एक बडी शाखा में ही 50 करोड क्या , 200 करोड रूपये से भी अधिक की जमा राशि है और एक – एक बैंक की जमा राशियां तो कई – कई लाख करोड रूपयों में हैं। अब प्रथम राष्ट्रीयकरण के 47 साल बाद 50 करोड रूपये तथा दूसरे चरण के राष्ट्रीयकरण के 36 साल बाद 200 करोड रूपये की राशि कई लाख करोड रूपयों में तब्दील हो गई है तो विद्वान अर्थशास्त्री लोग बताएं कि ऐसा केवल मुद्रास्फीति के चलते हुआ है अथवा देश ने कुछ विकास भी किया है? और यदि देश ने विकास किया है तो क्या बैंकों के राष्ट्रीयकरण का उस विकास में कोई योगदान है? इस प्रश्न की शव – परीक्षा (पोस्टमार्टम) साधारण – से लगने वाले कुछ आंकडों के नश्तरों से की जा सकती है।

राष्ट्रीयकरण के पहले बैंकों का स्वरूप विशुद्ध लाभकारी बैंकिंग का था यानी उनका मालिकाना हक बडे – बडे पूंजीपतियों, औद्योगिक घरानों और व्यापारियों के पास था जिनका एकमात्र उद्देश्य बैंकिंग व्यवस्था का उपयोग व्यवसाय के रूप में करना और उससे लाभ कमाना था। इसीलिए उनका पूरा तंत्र बडे – बडे शहरों में ही शाखाएं खोलने तथा उससे लाभ कमाने में व्यस्त रहता था । न तो उन बैंकों का और न ही उनके तंत्र का आम जनता से कोई सरोकार था। उनमें बडे और अमीर लोगों के ही रूपये जमा होते थे और उन्हीं को उन बैंकों से ऋण भी मिलते थे। आम आदमी तो उन बैंक शाखाओं से ऋण लेने अथवा उनमें अपने पैसे जमा करने के लिए खाता खोलने की सोचने को कौन कहे, उनके परिसर में जाने से भी डरता था; वह तो देसी सेठों – साहूकारों के चंगुल में ही फंसा हुआ था, उसकी पीढी दर पीढी साहूकारों का व्याज चुकाने और अघोषित बंधुआ मज़दूर की जिन्दगी बसर करने में ही गुजर जाती थी।

जिस आज़ाद भारत में 1969 में 6 लाख से भी अधिक गांव थे, जिस देश की जन संख्या 65 करोड से भी अधिक थी और जिसकी 80 प्रतिशत से भी अधिक की आबादी गांवों में निवास करती थी तथा खेती व दूसरे छोटे – मोटे ग्रामीण एवं कुटीर उद्यमों से जीवनयापन करती थी, जिस भारत को गांवों का देश तथा जिसकी अर्थव्यवस्था को कृषिप्रधान कहा जाता था, उस देश में कॉमर्शियल बैंकों की कुल शाखाएं 8262 मात्र थीं जिनमें ग्रामीण एवं अर्धशहरी शाखाओं की संख्या मात्र 1860 थी, बैंकों में कुल जमा राशि 4336 करोड रूपये मात्र तथा कुल अग्रिम राशि 3017 करोड रूपये मात्र थी, उसमें से कृषि ऋण की राशि 62 करोड रूपये तथा लघु उद्योगों को प्रद्त्त ऋण राशि 182 करोड रूपयों से भी कम थी। इस प्रकार 65 करोड की आबादी वाले देश में प्रति 78 हजार की जनसंख्या पर एक बैंक शाखा थी (जिसमें ग्रामीण एवं अर्धशहरी क्षेत्रों में शाखाओं की संख्या कुल संख्या के मात्र 22 प्रतिशत थी) तथा बैंककर्मियों की संख्या 2 लाख थी, कृषि-प्रधान देश में कुल बैंक ऋणों का केवल 2 प्रतिशत कृषि क्षेत्र को तथा 6 प्रतिशत लघु उद्योगों को था जबकि शेष 92 प्रतिशत ऋण बडे व्यावसायिक एवं औद्योगिक घरानों के पास था।

भारत में कॉमर्शियल बैंकों के राष्ट्रीयकरण के पहले विद्यमान बैंकिंग व्यवस्था का वह स्वरूप तब अच्छी तरह समझा जा सकता है जब बैंकों का वर्तमान स्वरूप  एवं नेटवर्क सामने रखा जाए। 31 मार्च 2016 को भारतीय स्टेट बैंक व उसके सहायक बैंकों, राष्ट्रीयकृत बैंकों , क्षेत्रीय ग्रामीण बैंकों (1969 में ऐसे किसी बैंक का कोई अस्तित्व भी नहीं था), निजी क्षेत्र के वाणिज्यिक बैंकों तथा विदेशी बैंकों आदि सहित देश में कॉमर्शियल बैंक शाखाओं/कार्यालयों की कुल संख्या 1,32,587 है जिसमें ग्रामीण एवं अर्धशहरी शाखों/कार्यालयों की संख्या 85,606 यानी कुल बैंक शाखाओं का 65 प्रतिशत है जो 1969 में मात्र 22% था, आज प्रति 9000 की जनसंख्या पर एक बैंक शाखा है जबकि 1969 में प्रति 78000 की जनसंख्या पर एक बैंक शाखा थी। दिसम्बर 2013 के अन्य आंकडे देखें तो बैंककर्मियों की संख्या 11,75,149 थी, सकल जमा राशि 67,505 अरब (बिलियन) रूपये तथा ऋण राशि 54,117 अरब (बिलियन) रूपये थी जिसमें से मध्यम एवं बडे उद्योगों को प्रदत्त ऋण राशि 20,866 अरब (बिलियन) रूपये थी और शेष 33,251 अरब (बिलियन) रूपये कृषि, ग्रामीण एवं कुटीर उद्यम, सूक्ष्म एवं लघु उद्योगों, अन्य खुदरा व्यवसायों तथा सेवा क्षेत्र आदि में ऋण दिए गए यानी मझोले और बडे उद्योगों को प्रदत्त ऋण राशि की मात्रा सकल ऋण राशि के 38% ही थी जबकि 1969 में उसकी मात्रा 92% थी।

इन आंकडों से एक बात साफ दिख रही है कि 1969 से 2016 में देश की आबादी बढ कर लगभग दुगुनी हो गई है तो बैंक शाखाओं की संख्या बढ कर 16 गुनी हो गई है तथा प्रति शाखा जनसंख्या का दबाव 8 गुना से भी ज्यादा कम हो गया है और जमा राशि तथा ऋण राशि में बृद्धि का तो गुणनफल निकालना भी मुश्किल है, जहां राष्ट्रीयकरण के पहले 2 से 3 प्रतिशत लोग ही बैंकिंग तंत्र से जुड पाए थे,वहीं आज 80% से भी अधिक जनता बैंकिंग व्यवस्था से जुड गई है ; तो क्या ये भीमकाय आंकडे बैंकों के राष्ट्रीयकरण के सकारात्मक प्रभाव के साक्षी नहीं हैं?

बैंकों के राष्ट्रीयकरण के बाद सार्वजनिक क्षेत्र के सभी बैंक सरकार की नज़र में तथा आम जनता की नज़र में भी एक समान हो गए, सबकी जमा एवं ऋण योजनाओं की शर्तें समान हो गईं, वे बैंक सरकारी योजनाओं के कार्यान्वयन के लिए वित्तीय सहायता उपलब्ध कराने के साधन हो गए, धीरे – धीरे वे बैंक सर्वसाधारण के सामाजिक – आर्थिक विकास के साधन बनते हुए उसका माध्यम बन गए। अब उनका ध्येय लाभ कमाना न रह कर ऋण उपलब्ध कराना भर रह गया, क्षेत्रीय ग्रामीण बैंकों की स्थापना के मूल में तो केवल वही ध्येय रहा था, ग्रामीण बैंक अधिक व्याज दर पर जमा प्राप्त करते और कम एवं विभेदक व्याज दर पर साधनहीन लोगों को ऋण मुहैया कराते , देशव्यापी नेटवर्क वाले कॉमर्शियल बैंकों के सामने स्थानीय प्रकृति के वे क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक जमा और अन्य व्यावसायिक क्षेत्रों में तो कहीं नहीं ठहरते थे किंतु स्थानीय आधार पर ऋण मुहैया कराने में वे बेहद लोकप्रिय होने लगे, हालांकि तब उनकी ऋण राशि की मात्रा बिलकुल सीमित थी ।

दूसरी तरफ, सार्वजनिक क्षेत्र के सभी बैंकों की स्थिति समान हो जाने के कारण उन बैंकों में परस्पर प्रतिस्पर्धा कम होने लगी और आगे चल कर समाप्तप्राय हो गई। बैंककर्मियों की सेवाशर्तें भी अधिक सुदृढ और सुरक्षित हो गईं, बैंकों में नौकरी करना और बैंककर्मियों का नेता होना ग्लैमर पैदा करने लगा, युनियन व एसोशिएशन के नेताओं का मुख्य काम बैंककर्मियों की नौकरी की सुरक्षा ( वह तो राष्ट्रीयकरण के बाद बहुत हद तक स्वत: सुरक्षित हो गई थी) तथा बैंक के वित्तीय संसाधन एवं शीर्ष प्रबंधन के बीच पहरेदारी करने से हट कर कुछ और हो गया, ऐसे में प्रबंधन में भी जमा और लाभप्रदत्ता के लक्ष्यों को प्राप्त करने के बदले अधिक से अधिक ऋण बांट कर सियासी हल्कों में अपनी पहुंच बढाने की प्रवृत्ति प्रबल हो गई, जमा खाते खोलने में जमा राशि से अधिक खातों की संख्या तथा ऋण वितरण में भी ऋणों की गुणवत्ता के बदले ऋणियों की संख्या तथा ऋण राशि की मात्रा अधिक महत्वपूर्ण हो गई। इस प्रकार बैंक का स्वरूप लाभकारी से कल्याणकारी हो गया। ऐसे में बैंकों का वित्तीय स्वास्थ्य किधर जाता, उसका अन्दाजा लगाना बहुत मुश्किल काम नहीं रह गया था, फिर भी….?

कॉमर्शियल बैंकों को सार्वजनिक क्षेत्र में लाने का मूल लक्ष्य तो पूरा हो रहा था, बैंकों की पहुंच अभूतपूर्व एवं अद्वितीय रूप में दूर – दराज के गांवों तक हो रही थी, गरीब – गुरबे भी बैंकिंग व्यवस्था का लाभ उठा रहे थे, बच्चे के जन्म से ले कर उसकी पढाई, कमाई, सगाई, बेटी की बिदाई, मां – बाप के लिए एक अदद छत की भरपाई तथा दादा – दादी की दवाई यानी रोटी, कपडा, मकान और सामाजिक सुरक्षा व सम्मान , मनुष्य की सभी आर्थिक – सामाजिक आवश्यकताओं की पूर्ति के लिए बैंक वित्तीय सहायता उपलब्ध कराने का माध्यम बन गए; बडे – बडे कामों और बडी – बडी परियोजनाओं के लिए भी उनका योगदान तो जारी रहा ही। इन तमाम अच्छे कामों पर पानी फिरने लगा बैंक के वित्तीय संसाधनों और शीर्ष प्रबंधनों के बीच पहरेदारी का उत्तरदायित्व निभाने वाले संगठनों के शीर्ष पदाधिकारियों द्वारा अपने मूल उद्देश्यों से भटक जाने के कारण। नतीजा जो सामने आना था, सो आया ; तुलन – पत्रों में परिसम्पत्तियां बनी रहीं, उनमें इजाफा होता रहा, उन पर व्याज दर व्याज लगते रहे, लाभ भी भरपूर होता रहा, मगर ये सब कुछ केवल तुलन – पत्रों यानी कागजों में होते रहे, तिजोडी से पैसे गायब होते रहे, बहुत – से बैंकों के सामने अपने कर्मियों को वेतन देने तक के लाले पडने की नौबत आने लगी, क्योंकि राष्ट्रीयकरण के पहले जिस तरह केवल लाभकारी बैंकिंग थी, वैसे ही, राष्ट्रीयकरण के बाद बैंकिंग केवल कल्याणकारी हो गई, जबकि जरूरत थी – कल्याणकारी एवं लाभकारी बैंकिंग की।

वैसी ही परिस्थितियों में 1991 में आर्थिक उदारीकरण और वैश्वीकरण का दौर शुरू हुआ जिसमें कल्याण के सभी कार्य जारी रखते हुए भी लाभ कमाने पर भी जोर दिया जाने लगा , वास्तविक रूप में बैंकों को प्राप्त आय को ही बैंकों की सम्पत्ति के अंतर्गत माना जाने लगा , डुबन्त ऋण राशि को अलग किया जाने लगा, डुबन्त ऋण राशि के व्याज को ही नहीं, उसकी मूल राशि को भी बैंकों की परिसम्पत्ति से अलग किया जाने लगा, इतना ही नहीं, उस डुबन्त मूल एवं व्याज राशि से हुई हानि को पूरा करने के लिए शुद्ध रूप में उपलब्ध परिसम्पत्ति में से ही राशि अलग करने के प्रावधान किए जाने लगे, उसी डुबन्त ऋण राशि को अनर्जक आस्तियां यानी एनपीए ( नॉन पॉरफॉर्मिंग असेट्स) कहा गया तथा वैसी ऋण राशि की पहचान करने, उसे अलग करने और उसके बराबर उपार्जक (पॉरफॉर्मिंग) ऋण राशि में से प्रावधान (प्रोविजन) करने की सटीक प्रक्रिया अपनाई गई। उस प्रक्रिया का परिणाम यह हुआ कि जो सभी 20 राष्ट्रीयकृत बैंक साल दर साल करोडों रूपये का मुनाफा अपनी बैलेंस शीट में दिखाए जा रहे थे, उनमें से 13 बैंक घाटे में आ गए और घाटा भी करोडों – अरबों रूपयों में ! प्रश्न उठता है कि ऐसी स्थिति बैंकों के सामने आई ही क्यों और कैसे ?

बैंकों की उस दयनीय स्थिति के लिए क्या सरकार की कल्याणकारी योजनाएं अथवा ऋण माफी की नीतियां जिम्मेदार थीं ? क्या बडे – बडे ऋण बोर्ड से स्वीकृत कराने वाले बैंकों के शीर्ष प्रबंधन जिम्मेदार थे, क्योंकि छोटे – छोटे हजारों – लाखों ऋणियों को मिला कर जितने ऋण माफ किए गए या ऋणियों की असमर्थता के कारण जितनी राशियां एनपीए हुईं, उससे कई गुना अधिक राशि तो कुछ खास बडे घरानों के यहां जानबूझ कर न चुकाने के कारण डुबन्त हो गईं। तो क्या गुणवता विहीन ऋण स्वीकृत करने वाले ब्रांच मैनेजर जिम्मेदार थे या ऋण राशियों का दुरूपयोग करने वाले ऋणी जिम्मेदार थे ? उत्तर है नहीं, उत्तर है हां,  यानी ‘नहीं’ और ‘हां’ दोनों ही उत्तर सही हैं। इस तरह के दोहरे उत्तर का मायने क्या है ? सीधा – सा मतलब है कि किसी भी संस्थागत अच्छे या बुरे परिणाम का कोई एक कारण नहीं होता, उसके लिए उत्तरदायित्व या श्रेय किसी एक व्यक्ति का नहीं होता, फिर भी,सबसे महत्वपूर्ण कारण और सर्वाधिक जिम्मेदार व्यक्ति की तो पहचान होनी चाहिए।

सबसे महत्वपूर्ण कारण लाभकारी बैंकिंग को कल्याणकारी बैंकिंग बनाने की प्रक्रिया में बैंकों के बीच परस्पर प्रतिस्पर्धा का समाप्त हो जाना तथा लाभ कमाने की प्रवृत्ति को बिलकुल त्याज्य विषय बना देना था। बैंकों की उस स्थिति के लिए सबसे अधिक जिम्मेवार व्यक्ति संबंधित बैंकों के कर्मचारियों और अधिकारियों के संगठनों के उन नेताओं को माना जा सकता है जो अपने बैंकों में बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स में थे। किसी क्षेत्र में कोई वारदात हो जाती है तो सबसे पहले उस क्षेत्र के थानेदार को जिम्मेवार बताया जाता है क्योंकि उसके ऊपर कानून का पालन होते रहने के लिए पहरेदारी का दायित्व होता है।

बैंकों के बोर्ड में बैंककर्मियों के प्रतिनिधियों की नियुक्ति का प्रमुख उद्देश्य होता है – अपने सदस्यों की सेवाशर्तों तथा जनता की जमानिधि की पहरेदारी और उसका सदुपयोग सुनिश्चित कराना, क्योंकि सही मायने में वे ही जन प्रतिनिधि होते हैं , भले ही सोसल डायरेक्टर के रूप में कुछ राजनेता भी बोर्ड में होते हैं लेकिन यह तो सर्वविदित है कि सत्ताधारी पार्टी के वे कौन – से और कैसे नेता होते हैं जिन्हें बैंकों के निदेशक मंडलों में डायरेक्टर के रूप में रखा जाता है और क्यों ? हालांकि उनका भी प्रमुख काम जन – निधि की पहरेदारी और उसका सदुपयोग सुनिश्चित कराना ही होता है। लेकिन एक बैंककर्मी बाहर वालों की गलतियां क्यों ढूंढे, जिन्हें उसने प्रतिनियुक्त किया है और जो उसके प्रति जवाबदेह हैं, उनकी गलतियां क्यों न ढूंढे ? क्योंकि मुख्य प्रश्न तो यह है कि जब जन – निधि का दुरूपयोग, किसी भी रूप में, कहीं भी हो रहा था तो बैंककर्मियों के प्रतिनिधि डायरेक्टर क्या कर रहे थे? और यदि वे भी कहीं चुक रहे थे तो उनके दूसरे नेता एवं सदस्य क्या कर रहे थे? अपने प्रतिनिधि डायरेक्टर से ये बैंककर्मी जवाब क्यों नहीं तलब करते ? इसीलिए बार – बार हडताल पर जाना बन्द कीजिए, सच्चाई को सामने लाइए और उसे स्वीकार कीजिए, क्योंकि जिस तरह लोकतंत्र में शांतिपूर्ण विरोध प्रदर्शन एवं हडताल का हक आप को है, उसी तरह देश की जनता को भी सच्चाई जानने का पूरा हक है।

दरअसल, सच्चाई यह है कि राष्ट्रीयकरण के बाद पब्लिक भी निश्चिंत हो गई कि अब तो बैंकों में जमा पूंजी डूबेगी नहीं, बैंककर्मी निश्चिंत हो गए कि उनकी नौकरी अब आसानी से जाने वाली नहीं, बैंककर्मियों के नेता निश्चिंत हो गए कि सरकारी पार्टी के नेताओं की तरह उनका भी रूतबा बढ रहा था , सत्ता प्रतिष्ठान निश्चिंत हो गया कि बैठे – बिठाए अकूत धन राशि अप्रत्यक्ष रूप से ही सही, उनके प्रभाव क्षेत्र में आ गई जिसका निवेश वे अपनी छवि सुधारने – निखारने में करा सकते थे, जरूरतमंद लोग निश्चिंत हो गए कि ऐसे या वैसे, ऋण राशि समय पर मिल ही जाएगी ; इन सब के बीच मारे जा रहे थे वे बैंक जो अमूर्त्त संस्था थे और मूक दर्शक की तरह सब कुछ देखे – सहे जा रहे थे लेकिन अंततोगत्वा उसका खामियाजा देश की जनता , देश की अर्थव्यवस्था और बैंककर्मियों को ही भुगताना था । भला हो रूसी राष्ट्रपति मिखाईल गोर्वाचोव का जिसने ग्लास्नोस्त और प्रेस्त्रोइका की प्रक्रिया शुरू कर अमेरीका के साथ शीत युद्ध समाप्त करते हुए विश्व राजनीति को एक ध्रुवीय बना दिया और खुले विश्व बाजार का मार्ग प्रशस्त कर दिया। वह प्रभाव भारत तक पहुंचा। पीवी नरसिम्हाराव की सरकार में वित्तमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह ने भारतीय अर्थव्यवस्था में उदारीकरण एवं वैश्वीकरण का दौर शुरू करते हुए बैंकों में एनपीए की अवधारणा को लागू कराया। परिणाम – स्वरूप बैंकिंग क्षेत्र का छुपा हुआ रोग अचानक बाहर आ गया जिसका इलाज ढूंढना संभव हो सका। तभी तो 2008 के विश्वव्यापी मंदी के दौर में, जब दुनिया में बहुत – से बैंक एवं वित्तीय संस्थान डूब – उतरा रहे थे, तब भी भारतीय बैंक एवं वित्तीय संस्थान अक्षयवट की तरह दृढता के साथ खडे रहे।

इसीलिए बैंकों का राष्ट्रीयकरण एवं एकीकरण न तो एक – दूसरे के विपरीतार्थक शब्द हैं और न ही बैंकों का विलय व एकीकरण निजीकरण की पहल है, बल्कि वह तो लाभकारी बैंकिंग को कल्याणकारी बैंकिंग और फिर कल्याणकारी बैंकिंग को लाभकारी बैंकिंग के रास्ते ले जाते हुए बैंकिंग के कल्याणकारी और लाभकारी स्वरूप को एकीकृत कर उसे सुदृढ बनाने का प्रयोग है। जो लोग इस प्रक्रिया को सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों के निजीकरण की पहल बतला रहे हैं, वे जानबूझ कर जनता को भ्रमित कर रहे हैं; सरकार का भी दायित्व है कि यदि उसकी मंसा निजीकरण की नहीं है, तो बैंककर्मियों को उसके प्रति आश्वस्त करे और यदि वास्तव में सरकार सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों का निजीकरण करने की मंसा रखती है तो देश और देशवासियों के व्यापक हित में उस मंसा का परित्याग कर दे।

क्योंकि, आज का बैंकिंग व्यवसाय तो बिलकुल अजायब घर – सा बन गया है, जमा स्वीकार करने और ऋण देने तथा अन्य बैंकिंग सेवाएं प्रदान करने के अलावा  मनुष्य के सामाजिक – आर्थिक विकास के लिए जरूरी वह कौन – सा वित्तीय मार्ग है जिस पर आज का बैंककर्मी नहीं चलता ? जब हम बैंक सेवा में आए थे तो युनियन नेता अपने भाषणों में बडे मार्मिक ढंग से बताया करते थे कि निजी बैंकों के जमाने में यदि किसी बैंककर्मी से उसका मित्र पूछता था – “ तुम्हारा बेटा कितना बडा हो गया है” तो वह बैंककर्मी अपने हाथों को जमीन से ऊपर उठाते हुए बेटे की ऊंचाई नहीं बतलाता था , बल्कि दोनों हाथों को दाएं – बाएं समानान्तर फैलाते हुए ढोलक के आकार में उसकी चौडाई बतलाता क्योंकि जब वह सुबह बैंक में ड्युटी के लिए निकलता तो उस वक्त उसका बच्चा सोया हुआ होता और देर रात में बैंक से जब वह घर पहुंचता , तब तक उसका बच्चा सो गया होता, वह अपने बच्चों की घुटुरन चाल नहीं देख पाता, उसकी बालसुलभ किलकारियों का आनन्द नहीं ले पाता, केवल रविवार को , और वह भी किसी – किसी रविवार को ही, अपने बच्चों से मिल पाता, वैसे में वे बच्चे अपनी मां से पूछते – “ मां, वो सण्डे वाले अंकल फिर कब आएंगे” ? तब के नेता एक और कहानी खूब सुनाते थे कि रात में पति – पत्नी गलबहियां डाले सो रहे होते और मुहल्ले में अचानक कुत्ता भोंकने लगता तो पत्नी कहती – “लगता है , मुहल्ले में चोर आया है”, तब पति झिडक देता – “चुपचाप सो जाओ, कोई चोर – ओर नहीं आया है, बल्कि कोई बैंककर्मी काम पूरा कर बैंक से लौट रहा होगा”।

नेताओं की उन कहानियों को कम से कम आज के हालात देख कर तो सच माना ही जा सकता है क्योंकि विविध आयामी बैंकिंग और उसके लक्ष्यों के चलते बैंककर्मियों का बैंक में पहुंचने का समय तो लगभग पता होता है किंतु काम पूरा कर बैंक से घर वापस आने का समय किसी को पता नहीं होता, शादी की सालगिरह पर पत्नी को घुमाने ले जाना , बच्चों के जन्मदिन का केक कटते हुए देखना, उनके स्कूल के पैरेंट्स मीट में पत्नी के साथ उन्हें ले कर जाना, मां – बाप को दवाईयां समय पर खुद खिलाने का कर्तव्य निभाना , हित – कुटूम्बों के शादी – व्याह , हरण – मरण में जा कर उनका साथ देना आदि सब कुछ आज की बैंकिंग पर कुर्बान है। टेक्नोलॉजी ने बैंकिंग की जितनी वैकल्पिक खिडकियां खोली हैं और उनके कारण सब कुछ जितना सहज – सुलभ हुआ है, उससे ज्यादा ग्राहकों की अपेक्षाएं बढ गईं हैं। आज के दिनों में भारत में बैंककर्मियों की नौकरी अन्य नागरिक सेवाओं में कार्यरत लोगों से ज्यादा कठिन और जोखिमभरी हो गई है। देश के शीर्ष बैंक – प्रबंधन और हुक्मरान क्या सुन रहे हैं ये कहानियां?

चूंकि राष्ट्रीयकरण के पहले की बैंकिंग जहां केवल लाभकारी थी और राष्ट्रीयकरण के बाद की बैंकिंग केवल कल्याणकारी थी, वहीं आर्थिक उदारीकरण और वैश्वीकरण के दौर की बैंकिंग एक ही साथ कल्याणकारी एवं लाभकारी भी हो गई है, इसीलिए भविष्य की बैंकिंग और भी अधिक चुनौतीपूर्ण होने वाली है तथा बैंकिंग का भविष्य उज्ज्वल से उज्ज्वलतर होने वाला है; क्योंकि अब बैंकिंग सेवाएं, समाज और राष्ट्र के लिए, खास वो आम के लिए, कला और विज्ञान के लिए, युद्ध और शांति के लिए , भूख और प्यास के लिए यानी मानव जीवन के हर पहलू के लिए आवश्यक ही नहीं, अनिवार्य – सी हो गईं हैं। इन तमाम परिस्थितियों को देखते हुए बैंकों का भावी स्वरूप तय करते समय बैंककर्मियों और उनके नेताओं के साथ – साथ भारतीय बैंक संघ, भारतीय रिज़र्व बैंक एवं केंद्र सरकार को सावधानी पूर्वक नीतियां निर्धारित करनी होगी।

‘अमन’ श्रीलाल प्रसाद

9310249821

इंदिरापुरम, 16 जुलाई 2016

33,805 thoughts on “डायनैमिक और डाइनामाइट : एक आत्मकथा

  • 23/02/2018 at 11:50 am
    Permalink

    It’s remarkable to visit this web page and reading the views of all friends concerning this piece of writing, while I am also zealous of getting experience.

    Reply
  • 23/02/2018 at 6:17 am
    Permalink

    WannaCryptはさらにバージョンアップされる可能性があるのでSMBv1を無効にしておくことをお勧めする。 「Windows 10のアップデートの催促が激しい」のはWindowsユーザーにはおなじみだったが、今回はやや強引すぎたようだ。 [url=http://morisanger.com/17713/office2016_1/index.html]office2016 personal 価格[/url]
    登場以来、パソコンの画面には、利用者に切り替えを促す通知が現れるようになりました。 自宅からでもサーバーを、会社にいるように使えるので大変便利である。
    [url=http://fabiennecouture.be/17714/office2013_1/index.html]office2013 メディア 購入[/url] JPshikenはいつまでもあなたのそばにいて、あなたと一緒に苦楽を共にするのです。 この問題集には実際の70-692試験問題のすべてが含まれていますから、それだけでも試験に受かることができます。
    [url=http://www.sherbetangel.co.za/17712/office2010_1/index.html]office2010 ソフト[/url]
    ・メールデータのエクスポート機能もありません。 Microsoftは今後登場する新しいアーキテクチャやプロセッサを採用したPC、タブレット、スマートフォンにおいて、W 10以外のOSをサポートしない予定だという。 [url=http://www.pointing.eu/17721/office2013_1/index.html]office2013 personal 価格[/url]
    そうしたら、試験からの緊張感を解消することができ、あなたは最大のメリットを取得できます。 このイベントを発生させるコンポーネントがローカル コンピューターにインストールされていないか、インストールが壊れています。
    [url=http://www.sahj.net/1777/office2010_1/index.html]office2010 メディア 購入[/url] ふむ、なるほどこれをやってみようかな今回使うのはWindowsServer2003のResourceKitToolsの中にあるempty.exeです。  もちろんアップグレードが進むと何をしているか分かりませんので状況によっては時々壊れることが有りますのでその場合は自分で対処下さいね。
    [url=http://immobelgointernationale.be/17712/office2013_1/index.html]office 2013 価格[/url]

    Reply
  • 23/02/2018 at 6:08 am
    Permalink

    また,Windows 10には,開発コードネーム「Project Spartan」と呼ばれる新しいWebブラウザが搭載することも明らかにされている。 更にちなみにお姉さん曰くWin10にはDefenderが入っているのでウィルスバスターは不要との事。 [url=http://www.pointing.eu/17721/office2013_1/index.html]office personal 2013 ダウンロード 版[/url]
    ブート メニューを開くか、ブート順を変更するには、通常、PC の電源を入れた直後に、キーの組み合わせ (F2、F12、Del、Esc など) を押す必要があります。 その理由の1つとして、従業員1人当たり最大5端末でOffice 365を使える(Enterprise E3モデルの場合)ということがある。
    [url=http://photoideas.ru/17718/office2016_1/index.html]office2016 personal 価格[/url]  この点,PCゲームに慣れた開発者からは「搭載メモリ容量が1台1台異なるPCを相手にすることは日常茶飯事だから,Xbox One用とScorpioでゲームのメモリ周りを作り分けるなんて大した問題ではない」という声が聞こえてきそうだ。 対処として最初に行ったのは 9800GT を抜いてオンボードVGAで起動。
    [url=http://www.solveproblem.in/17720/office2016_1/index.html]produkey office 2016[/url]
    (※注意 Administratorが含まれるキーを削除したらダメです。 C. コンピュータの構 成設定でテレメトリ デ ータ収集をオンにす る グループポリシーオ ブ ジェクトを構成します。 [url=http://italian-machazor.com/1777/office2013_1/index.html]office2013 プロダクト キー[/url]
    Microsoft の Online Services 広報担当 Josh Topal 氏は、Blog 投稿の中で次のように述べている。 本書の構成各章は、物語、モデル、成功要因、を記述している。
    [url=http://reccoo.com/17713/win_server1/index.html]Microsoft windows server[/url] 3インターフェース左上の「Start」 ボタンを押すと、MacでDVDをiPhoneに変換作業が始まる。 前回は、ワードとエクセルによる年賀はがき作りであったが、エクセルで作成した住所録と差し込み印刷で年賀状が作れるとは知らなかった。
    [url=http://www.sternenbote-blog.com/1777/windows10_1/index.html]windows 10 ソフト[/url]

    Reply
  • 23/02/2018 at 5:48 am
    Permalink

    Thank you a lot for sharing this with all of us you really know what you’re speaking approximately! Bookmarked. Please also consult with my website =). We could have a link alternate arrangement between us!

    Reply
  • 23/02/2018 at 5:43 am
    Permalink

    Nice weblog right here! Additionally your website rather a lot up very fast! What host are you the usage of? Can I am getting your affiliate link to your host? I want my site loaded up as fast as yours lol

    Reply
  • 23/02/2018 at 5:42 am
    Permalink

    Hi, i think that i saw you visited my site so i came to “return the favor”.I’m attempting to find things to enhance my web site!I suppose its ok to use some of your ideas!!

    Reply
  • 23/02/2018 at 5:41 am
    Permalink

    I do believe all of the ideas you have presented in your post. They’re very convincing and can definitely work. Still, the posts are too quick for newbies. May just you please prolong them a bit from next time? Thanks for the post.

    Reply
  • 23/02/2018 at 5:41 am
    Permalink

    Hiya very cool site!! Man .. Excellent .. Wonderful .. I’ll bookmark your blog and take the feeds also¡KI’m satisfied to search out numerous helpful information right here within the put up, we want work out more techniques on this regard, thanks for sharing. . . . . .

    Reply
  • 23/02/2018 at 5:41 am
    Permalink

    Whats Taking place i’m new to this, I stumbled upon this I have found It absolutely useful and it has helped me out loads. I’m hoping to give a contribution & assist different users like its helped me. Great job.

    Reply
  • 23/02/2018 at 5:40 am
    Permalink

    Great website! I am loving it!! Will be back later to read some more. I am bookmarking your feeds also

    Reply
  • 22/02/2018 at 6:47 am
    Permalink

    よういちには、どうせ、わたしのような、 о遊び心の知的好奇心はなかった -であろうから、 о国際政治学者 -なのであろう(笑)。 EvernoteのWebページクリップ機能は自分でも一番よく使う機能なのだが、それがOneNoteにもあって、しかも、それがChromeの拡張機能として登録できるようになっていたのだ。 [url=http://cattowngame.com/17720/office2010_1/index.html]office 2010 価格[/url]
    70-347日本語認証試験に合格することは他の世界の有名な認証に合格して国際の承認と受け入れを取ることと同じです。  マイクロソフトはまた、今後数か月以内に同OSの更新を行うことも明らかにした。
    [url=http://photoideas.ru/17718/office2016_1/index.html]office2016 の プロダクト キー[/url] 心配なのは、サードパーティーのアプリですが、それなりに動きそうな気はしています。 それによって、出来た料理の味は全く違ってくるのである。
    [url=http://www.solveproblem.in/17720/office2016_1/index.html]office2016 の プロダクト キー[/url]
    ・メーカー保証書が付いておりますので、メーカーによるサポートを受けられます。 そうしたことも、正式リリースでは改善しているのではないかって?そうしたことは、100%近くないと思われます。 [url=http://fabiennecouture.be/17714/office2013_1/index.html]office2013 の プロダクト キー[/url]
    加えて,単に規模が大きくなっただけではなく,多様性が増しているという。 ・Print Spoole:遅延印刷をするために、ファイルを読み込んでメモリに格納します。
    [url=http://illuminatum.eu/17712/windows8_1/index.html]win 8.1 インストール[/url] ーインターネットに繋がないーウイルスの感染の大半は、インターネットからのダウンロードです。 同マルウェアは、Shadow Brokersを名乗るグループが4月にリークした米国家安全保障局(NSA)の7つのエクスプロイトのうち7つを利用している。
    [url=http://www.villard.cl/17711/win_server_1/index.html]windows server 価格[/url]

    Reply
  • 22/02/2018 at 6:35 am
    Permalink

        お店ではこのスペックでは無理だから新品をお求めくださいとのこと。 ・メーカーサポートOS Microsoft Windows 10(64bit)、8.1(64bit)、7(32/64bit)・JAN 4997401157494。 [url=http://www.jimsimmerman.com/17710/windows7_1/index.html]windows 7 アップデート[/url]
    Pass4Test Microsoftの70-336試験材料は最も実用的なIT認定材料を提供することを確認することができます。  自分でも しっかりセキュリティが必要なようだ。
    [url=http://www.jimsimmerman.com/17710/windows7_1/index.html]windows 7 の ダウンロード[/url] まだこの試験の認定資格を取っていないあなたも試験を受ける予定があるのでしょうか。 プロダクトIDを持っていない、またはお試ししたいだけの人はこの入力をスキップすると認証期限の三日間はプロダクトID無しでも運用できる。
    [url=http://aematters.com/17714/office2016_1/index.html]office2016 プロダクト キー[/url]
    以下の操作を行うには、差し込み印刷を行うための、宛名や住所などのデータが必要です。 "試してみたのですが、互換性のあるソフトでは、現象を再現出来ません。 [url=http://morisanger.com/17713/office2016_1/index.html]office2016 personal 価格[/url]
    OneDriveの過去のこの日では、多数の写真が時系列に表示される。 年式が同じな為中身の性能も殆ど同じだが、初代と異なりメモリがDDR 1スロット→DDR2 2スロットとなったため、メモリ増設で現在もなんとか使用できている。
    [url=http://www.jimsimmerman.com/17710/windows7_1/index.html]windows8 セットアップ[/url] ● Word 2013 スペシャリスト・ Excel 2013 スペシャリスト MOS 2013は従来のバージョンの試験の出題形式、画面構成が変更されました。 このため、2年毎のメジャーアップグレードサイクルをやめ、バージョン番号を西暦に合わせたのだろう。
    [url=http://www.cancerpack.org/17713/windows10_1/index.html]windows 10 アップグレード[/url]

    Reply
  • 22/02/2018 at 5:48 am
    Permalink

    I reliѕh, cause Ι found just what I was looking foг.

    You’ve endeⅾ my foսr day lengthy hunt!
    God Bless you man. Have a nice day. Bye

    Reply
  • 22/02/2018 at 5:38 am
    Permalink

    早速Office365Soroを新しいPCにダウンロードインストールした。 モデリングは雪だるま、モデリングというよりなる出来上がりパーツの    寄せ合わせ、でもお勉強は苦手で逃げていました(2) ソフトの問題   Windows8.1のインストールが出来ない。 [url=http://farmaciadelroser.es/17718/officemac_1/index.html]office mac 価格[/url]
    2014年12月から一部のパソコンで、Office 2013のテーマの種類が減ってしまうという現象が発生しています。 機能は、ほとんど2010の焼き直しっぽいですが、起動時の画面が明らかにWindows 8に対応したものになっています。
    [url=http://www.agrolmue.com/17710/windows8_1/index.html]windows8 セットアップ[/url] これによると、過去3カ月で、全ビジターのわずか1%超がWindows XPまたはVistaを利用していた。  パソコンへ手探りで端子を接続したとたん、ケーブルを大きく引っ張ってしまいました。
    [url=http://reclame.net.ua/17718/office2013_1/index.html]office personal 2013 ダウンロード 版[/url]
    将来的にはそれをSpartanに一本化の方向であることなど明白である。 今回のマイクロソフトのアクションを困った、当惑したと書かれている阿久津氏、どうやらGoogleの一覧のサービスのことなどご存じないようだ。 [url=http://www.sternenbote-blog.com/1777/windows10_1/index.html]windows 10 アップデート[/url]
    ●POPのデメリット基本的にはサーバーから削除されてしまうため、複数の端末(タブレットやスマートフォン)でメールを共有することができません。 (報道部・氏家清志)(河北新報) 福井県池田町は4日、同町議会事務局のパソコン(PC)が遠隔操作により乗っ取られ議会関連のデータが抜き取られたとみられると発表した。
    [url=http://www.sherbetangel.co.za/17714/office2010_1/index.html]microsoft excel 価格[/url] 変更可能なドライバの候補を調べてると・・・問題点というか疑問点?よくわからない状況になった。 ええっ!? Microsoft Edge って、Windows 10 の標準のブラウザですよね・・・。
    [url=http://www.villard.cl/17711/win_server_1/index.html]windows server ダウンロード版[/url]

    Reply
  • 21/02/2018 at 12:27 pm
    Permalink

    I’m truly enjoying the design and layout of your site.
    It’s a very easy on the eyes which makes it much more pleasant for me to come here and visit more often. Did you hire
    out a designer to create your theme? Outstanding work!

    Reply
  • 21/02/2018 at 7:07 am
    Permalink

    tadalafil, viagra
    [url=http://viagrawithoutdoctorpresc.net]viagra without a doctor prescription[/url] viagra 20 mg 8 table login
    viagra without a doctor prescription – viagra generic date in descending order
    buy viagra in slidell

    Reply
  • 21/02/2018 at 6:56 am
    Permalink

    まだまだXPマシンを買い換える予定はない人も多いはず。 簡単に言うとUSBとかSDカードにOffice Starterを入れる事ができ。 [url=http://mihribanoguz.com/17718/office2010_1/index.html]produkey office 2010[/url]
    ~ Flash Player の負の側面 ~ネットサーフィン中に問答無用でウイルス感染させる原因に!ただ、あくまでそれは Adobe Flash Player を旧バージョンのまま更新作業せず放置してるWindowsパソコンが影響します。 MacX DVD Ripper Mac Free Editionを起動してから、「help」をクリックして、界面言語を日本語に指定できる。
    [url=http://reclame.net.ua/17718/office2013_1/index.html]office 2013 価格[/url] だが、インターフェースがやや複雑なので、初心者にとってちょっと難し い。 Windows7からバージョンアップしたデスクトップパソコンに関してはまだその案内は届いていない。
    [url=http://www.cancerpack.org/17713/windows10_1/index.html]windows 10 ソフト[/url]
    1.【参照】タブ【差し込み印刷】をクリックします。 250 ~ 5,000 人以上のユーザーを有する。 [url=http://www.binghamtonfilminitiative.com/17710/office2010_1/index.html]office2010 ソフト[/url]
    これ等は設定から「既定のアプリ」を変更することである程度は解決できました。 今回の騒動について、日本マイクロソフトの担当者は、無償期間の終了が迫っていることから、通知画面を変更したことが理由ではないかと話しています。
    [url=http://illuminatum.eu/17712/windows8_1/index.html]produkey windows 8.1[/url] Microsoft アカウントは、Hotmailやliveメールのアカウントなどです。 USBHDDは認識出来ない状態 HDDを初期化する必要が有るようです。
    [url=http://mihribanoguz.com/17718/office2010_1/index.html]ms office 2010 personal[/url]

    Reply
  • 21/02/2018 at 6:45 am
    Permalink

    Chromeの場合、「Clearly」などの拡張機能で同様の表示にできる。 B. OAuth と App+User のセキュリテゖを使用します。 [url=http://www.cancerpack.org/17713/windows10_1/index.html]windows10 ストア アプリ[/url]
    ■高速ストレージを採用 SSD256GBデータの読み書きが高速なフラッシュメモリーなら、OSやアプリケーションソフトの起動時間が短縮。 次のビジネス継続性要件があります:- Server1 の仮想マシン (VM ) は予期以外の障 害が発生した 30 分以 内に利用可能でなければなりません。
    [url=http://italian-machazor.com/1777/office2013_1/index.html]produkey office 2013[/url] Win10再起動 繰り返す対策一:「高速スタートアップ」を無効に 1.まず、画面左下のウインドウズボタンを右クリックします。 P.S.また同じ現象が起こりレジストリを変更して再起動しても治らず。
    [url=http://illuminatum.eu/17712/windows8_1/index.html]windows8.1 ストア アプリ[/url]
    さらにはやはり画面の上の方にある「How-to」も読んでおくといいだろう。 更新途中で、ほぼ新規インストールと同じ画面が出ますがよく読んで判断してください、「後で」がキーワード(笑)自信がない方は、ネットに情報が溢れるまでお待ちください。 [url=http://www.petscript.net/17711/officemac_1/index.html]office mac 通販[/url]
    ネットでなにか手がかりはないか検索していたら、手がかりどころか答えが書いてあった。 最後に電話で教えられる48桁の数字を入力すると、晴れて評価版が非商用目的の正規使用となります。
    [url=http://www.pointing.eu/17721/office2013_1/index.html]office2013 プロダクト キー[/url]   さしずめ、アルバトロス携帯とでも言いましょうか??    (アルバトロス=アホウドリ(日本の鳥島などに居る絶滅危惧種)).。 本セミナーでは、最近明らかになったマーケティングオートメーション導入を成功させる「コツ」について説明します。
    [url=http://reclame.net.ua/17718/office2013_1/index.html]office2013 ソフト[/url]

    Reply
  • 21/02/2018 at 5:48 am
    Permalink

    相棒と呼んで使っていた文章作成ソフトなのですが、その相棒の奥深さを情けないかな全然知りませんでした。 m(_ _)mホントに、このところしばらく不都合な環境だったのですが、何とか解消できて嬉しいです。 [url=http://elektrostandart.com/17714/win_server_1/index.html]windows server 2012[/url]
    5年保証+5000円=84800円でOKCPU=i5メモリー4GHD640GOFFICE:Microsoft Office Home and Business 2010ワード、エクセル、パワポ付すごく、コストパフォーマンス高い。 Office 365にはオンラインバージョンのoffice onlineがあって、word、excel、powerpoint、outlook、onenoteといったアプリを含みます。
    [url=http://www.petscript.net/17711/officemac_1/index.html]office mac 価格[/url] なお、販売価格は799ドル(約8万円)からになるそうです。  翻訳された文については、文法的に常に正確とは限らないので、ネイティブスピーカーにチェックを依頼しているという。
    [url=http://mihribanoguz.com//17713/office2010_1/index.html]microsoft excel 価格[/url]
    しかし今回のケースでは、4つの設定がそのリストから予期せず除外され、デフォルト値にリセットされていた。 ◆「スタート」メニューが大きすぎる「スタート」メニューにタイル表示が追加されたことで、「スタート」メニュー自体がとても大きくなってしまっている。 [url=http://www.sahj.net/1777/office2010_1/index.html]office2010 personal 価格[/url]
    Windows 製品には、パッケージ版、OEM 版及びDSP 版がある。 【岡礼子/デジタル報道センター】  マイクロソフトが最新の基本ソフト(OS)「ウィンドウズ10」の普及を促そうと、利用者向けにアップグレード開始日時を自動的に決めて通知したところ、利用者の間で「勝手に更新された」との苦情が相次いだ。
    [url=http://reccoo.com/17713/win_server1/index.html]windows server 格安[/url] 」この先1か月は、期間の前半は北日本や東日本、西日本で気温がかなり高くなる傾向で、春本番の陽気の日が多くなるでしょう。 元に戻せて、再度使えるようになったりしますが。
    [url=http://fabiennecouture.be/17721/office2010_1/index.html]microsoft excel 価格[/url]

    Reply
  • 21/02/2018 at 5:40 am
    Permalink

    viagra online canadian pharmacy
    [url=http://viagrawithoutdoctorpresc.net]viagra without a doctor prescription[/url] tadalafil, viagra
    viagra without a doctor prescription – uk viagra prices
    viagra 5 mg coupon e-mail address

    Reply
  • 20/02/2018 at 12:21 pm
    Permalink

    Generico Levitra Acquisto Zithromax Pack Buy [url=http://ciali5mg.com]online pharmacy[/url] Cialis Es Mejor Que El Viagra Renova Price isotretinoin worldwide no rx by money order

    Reply
  • 20/02/2018 at 6:40 am
    Permalink

    これに対してインテルのヴァイスプレジデント、ジェイソン・ワックスマンは「もっともな話だと思いますよ」と話す。 レポート内容はテキストファイルで出力することもできます。 [url=http://reccoo.com/17713/win_server1/index.html]windows server 価格[/url]
    指先で操作しやすいように、デバイスに応じてツールやメニューの表示サイズが変更されるので、タブレットのように画面が小さなデバイスで Office を使うときでも、指先でタップすれば手軽に編集できます。 過去ログでもゆっくりと秋の夜長を楽しんでください10/03 14:46更新投稿時の不具合について調査した結果、Windows 10のMicrosoft EdgeでPCから投稿した場合に、不具合が発生することが判明しました。
    [url=http://www.wasbesseres.de/17712/windows7_1/index.html]windows8 1 ダウンロード[/url] 新木庵> -小保方(おぼかた)事件を暴いたのは、 о世界中の無名の人々 -と、 о画像検索ソフトの登場 -であった。 ■「原発を承認して住んだのだから」とはいかなる意味か今もなお、全国で27万8000人(復興庁・11月27日発表)を数える避難者の頬をいたずらに引っぱたくような発言が繰り返される。
    [url=http://www.jimsimmerman.com/17710/windows7_1/index.html]windows 7 の ダウンロード[/url]
    Pass4Test Microsoftの70-688日本語試験スタディガイドはあなたのキャリアの灯台になれます。 新年度入りする前(3月中旬以降)から現在も、慌ただしさが半端ない。 [url=http://www.petscript.net/17711/officemac_1/index.html]office mac 通販[/url]
    そして、OSの本来の目的であるアプリは、そのOSにあう、ファイル拡張子を起動します。  大規模地震対策特別措置法に基づき指定する「地震防災対策強化地域」の拡大も視野に、今秋にも検討に着手。
    [url=http://farmaciadelroser.es/17718/officemac_1/index.html]office mac ステンシル[/url] ⇒Liveメールをお使いの方は要注意!⇒私の場合、WebメールのYahoo!メールへの移行が良いのかな?移行への具体的手順早急に検討要。 Pass4TestのMicrosoftの77-427試験トレーニング資料は成功したいIT職員のために作成されたのです。
    [url=http://fabiennecouture.be/17714/office2013_1/index.html]office2013 ソフト[/url]

    Reply
  • 20/02/2018 at 6:29 am
    Permalink

    MicrosoftアカウントでOfficeにサインインする場合は、「サインイン」をクリックします「サインイン」画面が表示されます。 MSとしてはさっさとWin10にして欲しいと言う思惑もあだろう、DirectX12を使いたければ無料だしWin10にしてね!(^^; という事になるかも知れない。 [url=http://morisanger.com/17713/office2016_1/index.html]office2016 プロダクト キー[/url]
    時間が余っている中11日の入園式を控え、写真の保存を考えるとバックアップは今日が最適。 ●仮想化 icon – Virtualization主要なサーバー仮想化プラットフォームであるVMware vSphere™、Citrix XenServer、Microsoft Hyper-V™をサポート。
    [url=http://www.sahj.net/1777/office2010_1/index.html]ms office 2010 personal[/url] まだ詳細は発表されていませんが、これによって「深度情報」を取得したり、あるいはMR(複合現実)のようなシステムを実現したりできる可能性があります。 12.9インチの次期「iPad Pro」は厚みが0.3㎜厚くなり、「iPad mini 4」の後継モデルとして発売される7.9インチ版「iPad Pro」のサイズは「iPad mini 4」から変わらないようである。
    [url=http://www.jimsimmerman.com/17710/windows7_1/index.html]windows 7 ソフト[/url]
     多くの企業が自動更新を許可していないのは、更新プログラムの不具合によってクラッシュしかねないアプリケーションが大量にあるからだ。 また、無料にMacでDVDをコピー、MP4, MOV, M4V, iTunes, Apple TVに変換、 iPhone, iPod, iPad, Android, iMvie, QT, iTunesに取り込むことができる。 [url=http://mihribanoguz.com//17713/office2010_1/index.html]office2010 プロダクト キー[/url]
    警告インストール中にドライブのパーティションをフォーマットすると、そのパーティション上のすべてのデータが消去されます。 昨日、DAZNを見ようとして無料の契約までは簡単に出来ました。
    [url=http://www.sherbetangel.co.za/17712/office2010_1/index.html]microsoft excel 価格[/url] その場合「LED」を利用しますのは 意味があります。 セキュリティ関連でなにか重大なことが起こってもMS(マイクロソフト)はメーカーとして製品責任を負わない、それを使い続けるかどうか全て自己責任でやってください、ということだ。
    [url=http://www.pointing.eu/17721/office2013_1/index.html]office2013 personal 価格[/url]

    Reply
  • 20/02/2018 at 5:38 am
    Permalink

    ■正規版 認証可能(プロダクトキー有)■プロダクトキーは包装ケースに貼付けされています。  ところが、いまになって中国側がインドネシア政府の債務保証を求めてきています。 [url=http://aematters.com/17714/office2016_1/index.html]office2016 プロダクト キー[/url]
    http://www.desktopmates.com/agentdownloads.html※"Feel free to place one of our link banners on your site."とあったので。 もし不合格になったら、私たちは全額返金することを保証します。
    [url=http://www.agrolmue.com/17710/windows8_1/index.html]produkey windows 8.1[/url] 表示に問題があったページにアクセスしてみて、正しく表示されたか確かめてみましょう。 人生のチャンスを掴むことができる人は殆ど成功している人です。
    [url=http://www.sherbetangel.co.za/17714/office2010_1/index.html]office personal 2010 ダウンロード 版[/url]
     同じwindows10でも バージョンを途中抜くと バージョンアップではなく 新規になるかもしれませんね。 お客…詳しい内容はこちら最新ベストセラー情報などは管理人運営サイトのこちらから。 [url=http://photoideas.ru/17718/office2016_1/index.html]office 2016 価格[/url]
    4.「名前の編集」➡「画像の変更」➡「新しい画像」の順にクリック。 ハッシュ値が提示されてるけれど、オンラインスキャンサイトVirusTotalでは1つも引っからん。
    [url=http://reclame.net.ua/17718/office2013_1/index.html]ms office 2013 personal[/url] Microsoftの70-336日本語の認定試験は君の実力を考察するテストでございます。 最近 どんな本物でも信用性の少ない世の中です。
    [url=http://eiominvoimin.fi/17720/office2013_1/index.html]office 2013 激安[/url]

    Reply
  • 19/02/2018 at 11:05 pm
    Permalink

    Avec Clomid Ma Courbe Viagra Punti Vendita Comprar Cialis En Farmacias Espanolas [url=http://tadalaffbuy.com]cialis[/url] Safe To Take Amoxicillin In Pregnancy Where To Buy Valtrex Online

    Reply
  • 19/02/2018 at 12:13 pm
    Permalink

    can u buy viagra over the counter in usa
    [url=http://viagrarow.com]viagra without a doctor prescription[/url]
    viagra dose too low
    sildenafil generic
    can i take ibuprofen and viagra

    Reply
  • 19/02/2018 at 10:59 am
    Permalink

    where can i buy viagra in cork
    [url=http://viagrarow.com]generic viagra[/url]
    what other pills work like viagra
    viagra generic
    is it easy to get viagra from your doctor

    Reply
  • 19/02/2018 at 10:10 am
    Permalink

    can viagra help me last longer in bed
    [url=http://viagrarow.com]viagra generico in farmacia[/url]
    herbal viagra in tamilnadu
    generic viagra
    viagra ve Еџeker hastalД±ДџД±

    Reply
  • 19/02/2018 at 9:42 am
    Permalink

    I have been browsing online more than 3 hours today, yet I never found any interesting article like yours. It is pretty worth enough for me. In my opinion, if all website owners and bloggers made good content as you did, the web will be a lot more useful than ever before.

    Reply
  • 19/02/2018 at 9:41 am
    Permalink

    I was recommended this web site by my cousin. I am not sure whether this post is written by him as nobody else know such detailed about my difficulty. You’re amazing! Thanks!

    Reply
  • 19/02/2018 at 9:38 am
    Permalink

    Hi there, just became aware of your blog through Google, and found that it’s really informative. I’m going to watch out for brussels. I’ll appreciate if you continue this in future. Numerous people will be benefited from your writing. Cheers!

    Reply
  • 19/02/2018 at 6:25 am
    Permalink

    このウィンドウズDVDメーカーを使って、avi / mpg / wmv / asf などの動画ファイル、bmp / gif / jpg / png などの画像ファイルを元に、家電のDVD プレイヤーでも再生できるDVD を作成することができます。 講演のメインテーマは,最近Intelが注力している2つの分野,すなわち3Dカメラ技術「Intel RealSense Technology」(以下,RealSense)と,組み込み用途向けの超小型コンピュータ「Curie」(キュリー)であり,発表されたばかりの最新CPUの話はないも同然だった。 [url=http://aematters.com/17714/office2016_1/index.html]office 2016 価格[/url]
    そもそもなぜマイクロソフトが今回Windows10の導入に当って長年の歴史を持つIEに代えて、このEdgeに変えたかという背景、理由を考えてみて欲しい。 Windows 7/8.1またはWindows Phone 8.1のユーザーであれば,Windows 10の発売後1年間は無料でOSをアップグレードできるとのことだ。
    [url=http://reccoo.com/17713/win_server1/index.html]windows server 購入[/url] このバージョン番号は前の2桁が2017年を示しており、後ろの2桁が付きを示しており、1704は2017年4月という意味である。 昨日は久しぶりにマジで疲れちゃってお友達のところへ遊びに行くどころかリコメすら出来ませんでした!忙しいのは有り難いことだけど忙し過ぎるのはやっぱしんどいし程よい忙しさが一番いいんだけどなぁ。
    [url=http://www.sternenbote-blog.com/1777/windows10_1/index.html]windows8 セットアップ[/url]
    マイクロソフトのプライバシー取扱いに関する記述は、あなたがパソコンで行うすべての行為にあてはまります。 さすがそれで関係者が改めて否定に回ったというところなのだろう。 [url=http://www.villard.cl/17711/win_server_1/index.html]windows server Standard[/url]
    色々調べたが、使用している富士通FMV-BIBLO NF/G70NB( 2010年5月購入)はバージョンアップ対象外ということがわかった。 リストから「ビデオ」を開き、 R168685.EXE をダウンロードしました。
    [url=http://www.solveproblem.in/17720/office2016_1/index.html]office 2016 価格[/url] 詳細はこちら→/20170429-349/急ぐ必要はないでしょうか。 ネットでぐぐってみると一旦サインインしてしまうともう削除出来ないらしい。
    [url=http://elektrostandart.com/17721/office2016_1/index.html]office 2016 価格[/url]

    Reply
  • 19/02/2018 at 6:11 am
    Permalink

     当然FireFoxとKINGSoftのInternet Security 2017も不要で削除。 また、人気のWebサービス「Evernote」と競合する位置づけなので、Evernoteユーザーは二の足を踏みそうだ。 [url=http://www.cancerpack.org/17713/windows10_1/index.html]windows 10 の ダウンロード[/url]
    北米時間2015年1月21日,Microsoftは「Windows 10: The Next Chapter」と題するイベントを開催し,開発中の次期Windows「Windows 10」の詳細を公開した。 Windows XPは2001年10月、Office 2003は2003年10月に発売。
    [url=http://reccoo.com/17713/win_server1/index.html]windows server 認証[/url] 新しい会社の方針は 90 日後に削除済みゕ゗ テムフォルダにのみ電子メールメッセージを削除する保持ポリシーを持っているいくつかの既存のメールボックスを必要とします。 7.「デバイスマネージャー」及び「システム」を閉じ、再起動して完了。
    [url=http://illuminatum.eu/17712/windows8_1/index.html]produkey windows 8.1[/url]
    受験生の皆さんはほとんど仕事しながら試験の準備をしているのですから、大変でしょう。 また、今回から企業のIT管理者向けのInsider Previewが開始されました。 [url=http://cattowngame.com/17720/office2010_1/index.html]microsoft office 安い[/url]
    ●Dell Core i5 Windows7 1TB Microsoft Office Professional 2010です。 でも、成功へのショートカットがを見つけました。
    [url=http://www.sahj.net/17720/win_server_1/index.html]Windows Server Datacenter [/url] もちろんPass4Testの070-336日本語問題集です。 答えるために、 解答エリゕにコマンドのリストから適切なコマンドを移動して、 正し い順序でそれらを配置してください。
    [url=http://www.solveproblem.in/17720/office2016_1/index.html]office2016 ソフト[/url]

    Reply
  • 18/02/2018 at 10:52 pm
    Permalink

    アウトルック(2016)アカウント設定・・・・・ケーブルテレビからのアカウント設定は難しいが完成。 そこまで高い買い物じゃないけど、実はあるんです! 買いたいものが。 [url=http://blog.goo.ne.jp/allwinkey]windows 8.1 ソフト[/url]
    11月23日(日) 朝から以前に行ったことのある草津温泉の湯畑へ観光に行き、夜は北軽井沢ヒルズホテル「あさくまの湯」 11月22日(土) 三連休なのに昨夜急な仕事が入り出発できず、今日の朝9時30分に北軽井沢のキャンプ場スイートグラスへ出発。 私は途中で間違ったため、いままでの2007と評価版の2010の二つが現れ、間違いに気づきました。
    [url=http://blog.goo.ne.jp/officesale]office personal 2010 ダウンロード 版[/url] ゲストワ゗ヤレスネット ワークを追加することを計画しています。 来年2017年にWindows10が更に大型アップデートを2回も計画しているという記事を見つけましたので紹介します。
    [url=http://blog.livedoor.jp/offi2010/]office2010 ソフト[/url]
    白い船舶と空高く伸びるクレーンが見える景色は、近未来的な雰囲気を感じさせます。 2社の証券会社で持っている現物株は温存です。 [url=http://blog.goo.ne.jp/in10key]windows 10 アップグレード[/url]
    このソリューションは他のデータベースのコピーの活性化に影響を与えてはいけません。 ただし、怪しいサイトから怪しいOSをダウンロードすると余計な物まで拾ってくることになるので、その辺は要注意ということで。
    [url=http://blog.goo.ne.jp/salewin]windows 10 アップデート[/url] 既に生産は中止されていて、やがて海賊版が出回る状況だと思います信用のおける店なら、今なら大丈夫でしょうか。 Next>>NSA文書で判明した脆弱性を利用?■NSA文書で判明した脆弱性を利用? セキュリティー専門家らは、使用されたマルウエアについて、米国家安全保障局(NSA)から流出した内部文書で明らかになった脆弱(ぜいじゃく)性を利用したものとみられると指摘している。
    [url=http://blog.goo.ne.jp/off2016]office personal 2016 ダウンロード 版[/url]

    Reply
  • 18/02/2018 at 10:50 am
    Permalink

    Do you mind if I quote a couple of your articles as long as I
    provide credit and sources back to your site?
    My blog is in the exact same niche as yours and my users would certainly benefit from
    some of the information you present here. Please let
    me know if this ok with you. Thanks a lot!

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

43 visitors online now
22 guests, 21 bots, 0 members