मुण्डन एवं विद्याध्ययन संस्कार

डायनैमिक और डाइनामाइट (अकथ कथा : आत्मकथा)

मुण्डन एवं विद्याध्ययन संस्कार

तिरुमाला तिरुपति

बसंत पंचमी 01 फरवरी 2017

श्वेतपद्मासना हंसवाहिनी पुस्तकधारिणी साम – सप्तस्वर – रागिनी विद्यादायिनी भव – भय – भेदिनी भगवती भारती मां सरस्वती की पूजा अर्चना का आज विशेष दिवस है ; बालक – बालिकाओं के विद्या – अध्ययन के शुभ मुहूर्त के साथ आज रंग वो गुलाल के त्योहार होली का शुभारम्भ देवी देवताओं को चन्दन रोली और अबीर अर्पित कर हो गया है। आज बसंत पंचमी है।

देश-विदेश के भारतवंशी, विशेष कर हिन्दू, आज बसंत आगमन का त्योहार बडे धूमधाम से मना रहे हैं। उमंग उत्साह उल्लास स्नेह और आनन्द आदि बसंत के स्थायी भाव में विभोर उत्सवधर्मा मानव मन मनोरम मनोहारी प्राकृतिक छटा के संग उसी के रंग में सराबोर है।

आज मेरे पौत्र (पोता) अपूर्व अमन का मुण्डन संस्कार और विद्याध्ययन शुभारम्भ व लेखनी पूजन तिरुमाला तिरुपति में भगवान बालाजी धाम में सम्पन्न हुआ तो मेरे दौहित्र (नाती) कुमार श्रेष्ठ का विद्याध्ययन शुभारम्भ एवं लेखनी पूजन अहमदाबाद साबरमती के सुन्दर सुहाने सौहार्दमय वातावरण में सम्पन्न हुआ।

मेरे पौत्र अपूर्व अमन ( मेरे एकमात्र पुत्र कुमार पुष्पक और बहू आरती पुष्पक का प्रथम पुत्र) के साथ मैं, मेरी पत्नी पुष्पा प्रसाद , पुत्र कुमार पुष्पक , बहू आरती पुष्पक, छोटी पुत्री शिप्रा और दामाद अभिषेक आर्यन कल रात में बंगलोर से चल कर आज सुबह तिरुपति पहुंचे। यहीं बालाजी के पवित्र प्रांगण में अपूर्व का मुण्डन संस्कार और लेखनी पूजन सम्पन्न हुआ।

बडी बेटी शिल्पाश्री पति सुमीत कुमार एवं पुत्र कुमार श्रेष्ठ के साथ अहमदाबाद में हैं, मेरे नाती श्रेष्ठ ने वहीं सरस्वती पूजन किया।

मेरे उपर्युक्त संस्कारित पोता और नाती , दोनों की तस्वीरें इस पोस्ट के साथ हैं । मैं अपने सभी सुहृदजनों, सुधी पाठकों, शुभचिंतकों से प्रार्थना करता हूं कि मेरे पोता और नाती को अपना स्नेह व आशीर्वाद दें तथा उनके स्वस्थ – प्रसन्न मंगलमय जीवन की कामना करने की कृपा करें ।

मेरे पोता और नाती चरित्रवान हों, विवेकवान हों, बुद्धिमान हों, मानवीय संवेदना से परिपूर्ण गुणवान हों, दयावान हों, करुणामय धनवान हों ,ऐश्वर्यवान एवं यशस्वी हों, इसके लिए मेरे, मेरी पत्नी, मेरे पुत्र व पुत्रबधू , बेटी व दामाद एवं समस्त पूर्वजों के अशेष आशीष उनके साथ हैं।

आज माघ सप्तमी है , हमारे यहां आज के दिन शक्तिस्वरूपा देवी भगवती की पूजा होती है। बसंत पंचमी विद्या की देवी सरस्वती पूजा के दिन बच्चों के शुभ संस्कार हुए, मैंने उसी दिन इस पोस्ट की शुरुआत की और आज सप्तमी शक्ति की देवी पूजा के दिन इसे पूरा कर पोस्ट कर रहा हूं।

शुभमेतिशुभम !

“अमन” श्रीलाल प्रसाद

9310249821

बंगलोर, माघ सप्तमी 03 फरवरी 2017

1,553 thoughts on “मुण्डन एवं विद्याध्ययन संस्कार

  • 20/10/2017 at 5:36 am
    Permalink

    Spot on with this write-up, I seriously think this web site needs far more attention. I’ll probably be returning to see more, thanks for
    the information!

    Reply
  • 20/10/2017 at 5:00 am
    Permalink

    I do accept as true with all of the ideas you’ve offered to your post. They’re really convincing and can certainly work. Still, the posts are very brief for newbies. May just you please extend them a little from subsequent time? Thanks for the post.|

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

52 visitors online now
34 guests, 18 bots, 0 members